Fri. Jun 5th, 2020

छठ पूजा के समय घाट पर युवाओं ने ली सेल्फी, सारी यादों को किया तस्वीरों में कैद

घाट पर युवाओं ने ली सेल्फी

छठ का महापर्व पूरा बिहार मना रहा है। छठ की पूजा करते वक़्त घाट पर युवाओं ने ली सेल्फी और जताई अपनी ख़ुशी। सूर्योपासना के महापर्व छठ के तीसरे दिन जहां व्रत रखने वाली महिलाएं अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दे रही थीं वहीँ युवा सेल्फीयां लेने में एकदम जुटे हुए थे। पूजा-पाठ से लेकर प्रसाद बाटने के हर कर्म को युवाओं ने अपने कैमरे में कैद किया और एक साथ न जाने कितनी सेल्फीयां ली।

घाट पर युवाओं ने ली सेल्फी, किया हर लम्हा कैद

एक तरफ सारी औरतें पूजा-पाठ कर रही थीं। डूबते सूरज को जल दे रही थीं और आशीर्वाद ले रही थीं तो वहीँ युवा इन सारी चीज़ों को अपने कैमरे में कैद कर रहे थे। साल में एक बार आने वाले त्यौहार का इंतज़ार हम इतने समय से करते है और यह कुछ पल में निकल जाता है। इसलिए इन्हे एक यादों की तरह कैद कर लेना चाहिए। यह ख़ास त्यौहार छठ कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष को मनाया जाता है। सूर्य की उपासना का यह महापर्व छठ चार दिनों तक होता है। छठ पूजा में उगते सूर्य के साथ-साथ डूबते सूर्य को भी अर्घ्य दिया जाता है। बिहार और उत्तर प्रदेश में यह त्यौहार काफी बड़ा पर्व है। इस त्‍योहार को यहां पर पारिवारिक सुख-समृद्धि और मनोवांछित फल-प्राप्ति के लिए मनाया जाता है।

 

यह भी पढ़ें- सीएम नीतीश कुमार ने दिया अर्घ्य सूर्य देव को, लाखो व्रतियों संग मनाई छठ पूजा

जानिए क्यों मानते हैं छठ का त्यौहार

छठ महापर्व का जिक्र सबसे पहले महाभारत में हुआ था। महाभारत कथा के अनुसार जब पांडव जुआं खेलते समय कौरव से अपना राज-पाट सब हार गए थे तब पांडव के लिए द्रौपदी ने छठ का व्रत किया था। यह व्रत रखने से द्रौपदी की सारी मनोकामनाएं पूरी हुई थीं। तब से छठ पूजा करने की प्रथा चली आ रही है। छठ पर्व को चार दिन तक मानते है। आज यह त्यौहार हर कोई मनाता है। अपने देश से दूर रहने के बाद भी कुछ लोग इसे विदेश में उसी श्रद्धा से मनाते हैं।

बिहार की राजनीति, मनोरंजन, जीवनशैली, खेल इत्यादि से जुड़ी ख़बरें अब सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *