Sun. Feb 28th, 2021

आज से राजगीर में विश्व शांति स्तूप 50वें वार्षिकोत्सव की शुरुआत, राष्ट्रपति कोविंद होंगे मुख्य अतिथि

विश्व शांति स्तूप 50वें वार्षिकोत्सव

विश्व शांति स्तूप 50वें वार्षिकोत्सव : बिहार के नालंदा जिले में राजगीर में आज से विश्व शांति तू के 50 वार्षिकोत्सव की शुरुआत आज से होगी. पहले देने की शुरुआत महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ द्वारा होगी. राष्ट्रीपति रामनाथ कोविंद पूरे विधिवत तरीके से भगवान बुद्ध की आराधना करेंगे. जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम में 13 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. इससे पहले से ही बड़ी संख्या में बौद्ध भिक्षुओं का राजगीर आने का शुरू दौर हो चुका है.

विश्व शांति स्तूप वार्षिकोत्सव : सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम

धनतेरस का त्यौहार आज- दीपोत्सव की तैयारी शुरू, जानिए खरीदारी का शुभ मुहरत

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमान को देखते हुए राजगीर में सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम कर दिए गए हैं. कार्यक्रम को लेकर तीन घेरे की सुरक्षा लगाई गई है. कार्यक्रम को सफल बनाने और सुरक्षा में कोई चूक न हो यह सुनिश्चित करने के लिए जिले के अलावा अन्य जिलों से भी पुलिसकर्मी व अधिकारियों को तैनात किया गया है.

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और इसके अलावा बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार पर्यटन मंत्री कुमारी भी शामिल होंगे.

जानकारी के लिए बता दें कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दिल्ली से पटना के लिए दिन में पहुँचे हैं. राजगीर के विपुलगिरी पर्वत उनके लिए विशेष हेलिपैड बनाया गया है. राजगीर पहुँच कर वह भगवन बुद्ध की पूजा करेंगे और शाम को पटना से दिल्ली के लिए रवाना हो जायेंगे.

इस भव्य समारोह में भूटान, जापान और श्रीलंका समेत 13 देशो के बौद्ध भिक्षु शामिल होंगे. विश्व शांति स्तूप की नींव 6 मार्च 1965 को तत्कालीन राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधारकृष्णन ने रखी थी.

विश्व शांति स्तूप के 50वें वार्षिकोत्सव को लेकर इस बार शांति स्तूप पर पेयजल, लाइट, सौंन्दर्यीकरण, सीढ़ी का निर्माण, नए आठ सीटर वाले रोपवे का निर्माण कराया जा रहा है. विश्व शांति स्तूप के प्रबंधक और पुजारी जापानी बाबा के नाम से प्रसिद्ध टीओकोनेगी ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी विश्व शांति स्तूप की वर्षगांठ पूरे उत्साह और उमंग के साथ बनाई जाएगी और भगवान् बुद्ध का सन्देश पूरे विश्व को एक बार फिर से दिया जायेगा.

इस समारोह में इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में एक आर्ट गैलरी का आयोजन किया जायेगा. इसके बाद 3 बजे से गौतम बुद्ध पर संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा. इसमें तमाम देशो के बौद्ध धर्म के प्रतिनिधि अपनी बात साझा करेंगे.

 

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें : –

बड़े मियां छोटे मियां शूटिंग शुरू- इस किरदार में दिखेंगे किशन और राजू

धनतेरस का त्यौहार: जनिये क्यों मनाया जाता है यह त्यौहार और कैसे करनी है पूजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें