Sat. Jul 4th, 2020

विधानसभा चुनाव को लेकर लालू-नीतीश के करीबी नेता ने की भविष्यवाणी, कहां-नितीश नहीं बनेंगे अगले मुख्यमंत्री

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी राजनैतिक पार्टियाँ अपने तरीके से दाव लगाते नजर आ रहे हैं। सभी यह अंदाजा लगाने में लगे हैं कि किस दल की क्या स्थिति रहने वाली है, इसी मामले में बिहार के बड़े नेता,जो कि आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाते रहे हैं उन्होंने पूर्व अनुमान में यह भविष्यवाणी कर डाली है कि,बिहार के अगले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नही बनेंगे। इस बयान ने बिहार का सियासी तापमान इतना बढ़ा दिया कि बीजेपी और जेडीयू दोनो दल ही इस नेता पर हमलावर हो गए हैं।

विधानसभा चुनाव को लेकर चढ़ा सियासी पारा

बता दें कि आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को लेकर बड़ा बयान दे डाला ,उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि आने वाले समय मे भारतीय जनता पार्टी बिहार के मुख्यमंत्री का चेहरा बदल सकती है, उन्होंने सम्भावना जताते हुए कहा कि इस पद पर नीतीश कुमार की जगह कोई और ले सकता है। इस आशंका के पीछे शिवानंद तिवारी ने प्रदेश की जनता में नीतीश के लिए भरे अविश्वास को कारण बताया है, उन्होंने कहा कि ,”बतौर मुख्यमंत्री नीतीश पिछले 15 साल से बिहार की कमान सम्हाल रहे हैं, पर वह जनता के उम्मीद पर खरे नही उतर रहे, वही दूसरी और वे बीजेपी को सीधा चुनौती देते हैं, यही वहज है कि बीजेपी नीतीश की जगह किसी और को मुख्यमंत्री के तौर पर सामने ला सकती है।

शिवानंद तिवारी के इस बयान से सियासत का पारा चढ़ा हुआ है,दोनो दलों के लोग शिवानंद तिवारी पर हमलावर हो गए हैं, बिहार के सूचना प्रसारण मंत्री नीरज कुमार ने ये कहते हुए शिवानंद पर निशाना साधा की,”शिवानंद तिवारी नीतीश कुमार की चिंता छोड़े, RJD की चिंता करें, इसका लाभ उन्हें और उनकी पार्टी दोनो को होगा।”

वही दूसरी ओर BJP के नेता और बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव एवं युवा विधायक नितिन नवीन ने भी शिवानंद तिवारी पर हमला बोलते हुए जोरदार पलटवार किया,नंद किशोर यादव ने कहा,”शिवानंद तिवारी को अपनी और अपनी पार्टी की फिक्र करनी चाहिए,हमारे गठबंधन की नही,”। विधायक नितिन नवीन ने भी शिवानंद को आड़े हाथ लेते हुए कहा,” शिवानंद तिवारी इस तरह का बयान देकर सियासत में खोई अपनी जमीन वापस पाना चाह रहे हैं,पर अब उन्हें कामयाबी नही मिलेगी राज्य की जनता ऐसे नेताओं और उनके दलों से दूर हो चुकी है””।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *