Wed. Nov 13th, 2019

सीमांचल में लव जिहाद की साजिश ? एक साल में गायब हुई करीब 200 लड़कियां !

सीमांचल में लव जिहाद

सीमांचल में लव जिहाद की साजिश : केरल राज्य से शुरू हुआ इस्लामिक जिहाद की खतरनाक और घिनौनी साजिश लव जिहाद अब बिहार के बॉर्डर को पार करते हुए सीमांचल पहुँच चुकी है. इसके खिलाफ संघ परिवार का हिंदूवादी संगठन विश्व हिन्दू परिषद काफी समय से अपनी आवाज़ बुलंद किये हुए है. विहिप इसे कुछ लोगों की सुनियोजित साजिश मानती है जिसके तहत हिन्दू धर्म की लड़कियों को धोखा देकर उनका जबरन धर्म परिवर्तन करवा उन्हें मुस्लिम बनाया जाता है. वहीँ पुलिस का अपना तर्क है कि यह दो अलग धर्मो के लोगों के बीच प्रेम-प्रसंग का मामला मानती है और उसी में सही गलत के हिसाब से कार्यवाही करती है लेकिन वीएचपी ने अब पुलिस की इस रवैये पर सवाल खड़े कर दिए है.

विश्व हिन्दू परिषद के स्थानीय नेता पवन कुमार पोद्दार का कहना है कि एक बड़ी साजिश के तहत सक्रिय गिरोह दूसरे धर्म की लड़कियों को प्रेम प्रसंग की आड़ में फंसा कर उनका जबरन धर्मांतरण करवा रहा है. कई मुस्लिम लड़के अपना नाम हिन्दू बताकर लड़कियों को प्यार में फंसते हैं फिर धोखा देकर उनसे शादी करके उनका धर्म जबरन बदलवा देते हैं.

बता दें कि लव जिहाद का मुद्दा पहले से एक राष्ट्रीय स्तर का विषय बन चुका और इसे लेकर राजनीति समय-समय पर तेज़ होती रही है. सीमांचल में इसके प्रभाव को लेकर विहिप काफी समय से इसके खिलाफ अभियान चला रही है. उसके अनुसार अभी तक लगभग 180 लड़कियां लव जिहाद के अपराध के कारण गायब हो चुकी हैं.

विहिप लीडर्स ने पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार को लव-जिहाद के दो पीड़ि‍तों के उदाहरण के साथ ऐसे मामलों में कार्रवाई करने की मांग की है. बता दें कि पहला मामला डगरुआ थाना क्षेत्र के कांड संख्या 200/19 का है, जिसके तहत लसनपुर गांव पूरण मंडल की बेटी तेतरी कुमारी और गांव के ही युवक सुफियान के बीच का मामला जुड़ा है.

बिहार में प्रदूषित हवा का असर : प्रदेश में जीवन प्रत्याशा 6.9 साल तक घटी !

सीमांचल में लव जिहाद की साजिश : विहिप ने इन दो मामलो लेकर उठाये सवाल

सीमांचल में लव जिहाद

इस मामले में पूरण मंडल की ओर से सुफियान पर तेतरी के अपहरण का मामला दर्ज कराया गया है. जबकि दूसरा मामला मीरगंमज थाना के कांड संख्या 117/17 का है, जिसमें अरविंद सिंह ने अपनी पत्नी किरण देवी को गांव के ही अकबर मोहम्मद द्वारा भगा लिए जाने की शिकायत की गई है. दोनों मामले में अभी पुलिस की पूरी पड़ताल बाकी है. इस पर विहिप के प्रतिनिधि चाहते हैं कि पुलिस इन मामलों की सही पड़ताल कर यह साफ करे कि मामला आखिर लव-जिहाद जैसे संगठित अपराध से जुड़ा है या नहीं.

जबकि पुलिस के सामने यह चौनौती है कि वह दो धर्मों के बीच के ऐसे मामलों को कानूनी और व्यक्तिगत स्वतंत्रता के रूप में कैसे जायज पाती है. इसी वजह से पुलिस यहां कार्रवाई करना उचित नहीं मान रही है. चूंकि ज्यादातर मामले प्रथम दृष्टया कानूनन सही होते हैं और व्यक्तिगत आजादी से जुड़े होते हैं, इसलिए पुलिस किसी समुदाय विशेष की आस्था के मामले में कुछ भी नहीं कर पाती, लेकिन जो दो मामले विहिप ने पुलिस के संज्ञान में लाए हैं. उन मामलों के पीछे का सच क्या है यह साफ होना अभी बाकी है.

यह तो किसी छीपा नहीं है कि सीमांचल में काफी अरसे ध्रुवीकरण की राजीनति ज़ोरदार स्तर पर हो रही है जिसके ज़रिये मुस्लिम तुष्टिकरण भी किया जा रहा है और समाज को बांटा जा रहा है. केरल जैसे हालात बनाने के लिए ही पिछले उपचुनाव में सीमांचल में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के उम्मीदवार को जिताया है.

सीमांचल में लव जिहाद का यह खतरनाक षड्यंत्र बिलकुल भी नकारा नहीं जा सकता इसलिए ज़रूरी है कि गहन जाँच हो ताकि सच सबके सामने आ सके.

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें : –

नारघोघी मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास, सीएम नीतीश कुमार द्वारा जनता को तोहफा

प्रदूषण पर बिहार सरकार का एक और फैसला, 2021 से डीजल ऑटो का चलना बंद

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *