Mon. Apr 6th, 2020

बिहार के लिए यह काम करेगी वा टेक जल प्रौद्योगिकी कंपनी

बिहार के लिए

बिहार के लिए जल प्रौद्योगिकी कंपनी Va Tech Wabag Ltd ने मंगलवार को कहा कि उसने बिहार में ‘नमामि गंगे कार्यक्रम’ (NGP) के तहत 1,187 करोड़ रुपये की परियोजना के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

कंपनी ने यहां जारी एक बयान में कहा कि नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा (NMCG), बिहार अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉर्प लिमिटेड (BUIDCO) और डीके सीवेज प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड (Va Tech Wabag की एक विशेष शाखा) के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

Va Tech Wagag के अनुसार, इस परियोजना में पटना के दीघा और कंकरबाग क्षेत्रों में 450 किमी से अधिक के सीवरेज नेटवर्क के साथ 150 मिलियन लीटर प्रति दिन (MLD) क्षमता का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (STP) शामिल है, जो सबसे अधिक आबादी वाले शहरों में से एक में लगेगा।  इस दायरे में डिजाइन, बिल्ड और ऑपरेट (डीबीओ) की कीमत 940 करोड़ रुपये और हाइब्रिड वार्षिकी की कीमत लगभग 247 करोड़ रुपये है, जो कुल मिलाकर 1,187 करोड़ रुपये है।

झारखंड में भाजपा हारी तो अब शुरू हुआ मंथन का दौर

बिहार के लिए  ज़रूरी है यह परियोजना

कम परिचालन व्यय के कारण सीवरेज नेटवर्क को चलाने के लिए एसटीपी को बायोगैस से अक्षय ऊर्जा का उत्पादन करने में सक्षम बनाया जाएगा। कंपनी 15 साल की अवधि के लिए एसटीपी और सीवरेज बुनियादी ढांचे के संचालन और रखरखाव के लिए भी जिम्मेदार होगी। प्रोजेक्ट को BUIDCO द्वारा NMCG के तहत विश्व बैंक से वित्तीय सहायता के साथ लागू किया जाएगा।

सुशील मोदी पड़े नरम, प्रशांत किशोर के लिए कही यह बात

यह परियोजना बिहार जैसे राज्य के लिए बेहद ज़रूरी है जहाँ पर जल का संकट और जल प्रबंधन बेहद अहम मुद्दे है। राज्य सरकार द्वारा उठाये जाने वाले यह कदम बेहद अहम है जिनसे समूचे राज्य को फायदा होना लाज़मी है। बस इसके लिए ज़रूरी है बिना किसी अनियमतता के पूरे परियोजना कार्य का पूरा होना ताकि सबका साथ सबका विश्वास का नारा सार्थक हो सके।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *