Mon. Jun 1st, 2020

5 अप्रैल को पीएम के आग्रह पर तेजप्रताप ने की लालटेन जलाने की अपील, तो होने लगे ट्रोल

तेजप्रताप ने की लालटेन जलाने की अपील

जैसा कि हम सभी जानते हैं भारत इस वक्त कोरोनावायरस के संकट से जूझ रहा है और सरकार हर तरह से देश के नागरिकों को इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री ने अब तक दो बार देश को संबोधित करते हुए जनता से कुछ अपील की जिसका पालन जनता भी कर रही है। आज तीसरी बार एक वीडियो मैसेज के जरिए पीएम ने एक बार फिर से जनता से अपील की है और कहा कि 5 अप्रैल, को रात 9:00 बजे 9 मिनट तक अपने घरों की लाइटें बंद करके दिया, टॉर्च, मोबाइल का फ्लैश, आदि जलाएं।

राजद नेता तेजप्रताप यादव ने किया लालटेन जलाने की अपील

प्रधानमंत्री के इस आग्रह का लक्ष्य यह था की कोरोना के अंधकार को चुनौती देना है और खुद को और भी मजबूत बनाना है तथा सुरक्षित रखना है। सोशल मीडिया पर पीएम के इस अपील का कई लोगों ने समर्थन किया जबकि कुछ लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं। खैर यह आम बात है, मगर दूसरी तरफ बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेज प्रताप यादव ने प्रधानमंत्री की इस अपील पर ट्वीट करते हुए कहा कि ‘वैसे आप लालटेन भी जला सकते हैं’।

जैसे ही तेजप्रताप ने यह ट्वीट किया, सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से ट्रोल होने लगे और लोगों ने उनका मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। एक यूजर ने लिखा कि आप उस दिन कौन सा रूप लेंगे, मोमबत्ती बनेंगे या दीपक। वही एक यूजर लिखते हैं कि, ‘लालू के बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप अभी कोविड-19 आइसोलेशन, लॉकडाउन, क्वारंटाइन, जैसे नए शब्द बोलना सीख रही रहे थे तभी मरकज, तबलीगी, जमात जैसे नए शब्द भी आ गए’।

ट्रोलर्स यहीं पर नहीं रुके एक के बाद एक तेजप्रताप का मजाक उड़ता रहा, किसी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है मिट्टी का तेल इसलिए लालटेन को खूंटी पर टांग दो तेजू भैया’। वहीं एक अन्य लिखते हैं कि ‘लालू जी भी कई सालों से जेल में वही चला रहे हैं लेकिन अंधकार खत्म ही नहीं हो रहा है’। कुछ ने तो यह तक जह डाला कि ‘वैसे आप चारा भी जला सकते हैं’।

आपकी जानकरी के लिए बताते चलें कि पीएम लगातार देशवासियों से अपील कर रहे हैं कि सभी अपने अपने घरों में रहें और खुद को सुरक्षित रखें। घर के अंदर रह कर ही चारों तरफ जब हर व्यक्ति एक-एक दीया जलाएगा, तब प्रकाश की उस महाशक्ति का ऐलान होगा कि हम सब एक ही चीज के खिलाफ लड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना संकट से जो अनिश्चितता और अंधकार पैदा हो रहा है हम सभी को मिलकर, एकजुट होकर उसे खत्म करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *