Sat. Jul 4th, 2020

सुशांत सिंह राजपूत की मौत का ग़म झेल ना सकी उनकी भाभी, सुधा देवी

बिहार के रहने वाले सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर आज हर कोई गमगीन हैं। और इनके घर वालों का हाल बयान कर पाना तो नामुमकिन सा है। यहां तक कि इनकी आत्महत्या की ख़बर को ना बर्दाश कर पाने की वजह से इनकी भाभी सुधा देवी ने भी आज दम तोड़ दिया। उनकी मौत ठीक उस समय हुई जब मुंबई में सुशांत का अंतिम संस्कार किया जा रहा था।

अपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के पैतृक गांव पूर्णिया के मलडीहा में रहने वाली भाभी, सुधा देवी ने देवर की मौत का मातम मनाते हुए खाना पीना त्याग दिया था। जिस कारण इनकी तबीयत काफ़ी ज़्यादा नासाज़ हो गई थी।

सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर बिहारवासियों का दिल हुआ नम

ज्ञात हो, रविवार को बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में सुसाइड कर लिया था। जिस पर पूरा देश रोता नज़र आ रहा है। बिहार के पूर्णिया स्थित उनके पैतृक गांव मलडीहा तथा पटना के राजीव नगर इलाके में लोगों काे गम में डूबा हुआ देखा गया। अपको बताएं कि इन दोनों जगहों में सुशांत की बचपन की यादें जुड़ी हुई हैं। उनके खगडि़या स्थित ननिहाल में भी मातम का माहौल है।

और घरवालों की बात की जाए तो उनके पिता केके सिंह गहरे सदमे में चले गए हैं वहीं, भाभी ने आज दम तोड़ दिया। हुआ यूं कि देवर की मौत की खबर सुनते ही भाभी की हालत बिगड़ गई। सदमें में वह बार-बार बेहोश होने लगीं। उन्हें डॉक्टर के पास भी ले जाया गया लेकिन इस भयानक सदमे को वह सह ना सकीं और आज उन्होंने भी दुनिया को अलविदा कह दिया।

बेटे के शव को देख कर पिता का दिल भर आया

उधर, सोमवार को सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह पटना से मुंबई गए, जहां बेटे का शव देख कर वह फूट फूट कर रोने लगे। उनके साथ पहुंचे सुशांत के चचेरे भाई व बिहार के छातापुर से विधायक नीरज सिंह बबलू सहित अन्‍य लोगों ने उन्‍हें संभाला। इसके बाद सुशांत का अंतिम संस्‍कार मुंबई में ही संपन्‍न हो सका।

वहीं, अपनी माटी के लाल की मौत पर गमगीन मलडीहा गांव में सन्नाटा छाया हुआ है। इस गांव के लोग सुशांत को गुलशन कह कर पुकारते थे। गांववालों के मन में बार बार यही सवाल उठ रहा है कि आखिर उनके गुलशन को किस कि नज़र लग गई।

 

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *