Fri. Aug 14th, 2020

सुपौल मामला:अभिभावकों ने जमकर काटा बवाल,हेडमास्टर की हुई पिटाई

सुपौल मामला:अभिभावकों ने जमकर काटा बवाल,हेडमास्टर की हुई पिटाई
सुपौल मामला:बिहार के सुपौल के प्रतापगंज में मिडिल स्कूल जयनगरा में शुक्रवार को हुई घटना के विरोध में सैकड़ों की संख्या में अभिभावक स्कूल पहुंचे और जमकर बवाल किया। इस दौरान हेडमास्टर की भी पिटाई कर दी गई। जिस वक्त यह सब हो रहा था वहां मौजूद पुलिस तमाशबीन बनी रही और कुछ न कर सकी।

अभिवावको ने किया हंगामा:-

 शुक्रवार को प्रतापगंज के जयनगरा मध्यविद्यालय में छिपकली गिरा खाना खाने से तीन दर्जन से अधिक बच्चे बीमार हो गए थे। जिनका इलाज प्रतापगंज पीएचसी में कराया। बच्चों का इलाज कराने के बाद शनिवार को जब स्कूल खुला तो अभिभावक विद्यालय पहुंच गए और हंगामा करने लगे। इस दौरान अभिभावक विद्यालय की कुव्यवस्था से भी आहत थे।अभिभावकों का आरोप था कि शिक्षा विभाग के एमडीएम और हेड़मास्टर की कुव्यवस्था के कारण ही शुक्रवार के दिन छिपकली मरा खाना खाने से हमारे तीन दर्जन बच्चों की तबियत खराब हो गई थी। जिनका इलाज पीएचसी में कराया गया था। उनका आरोप था कि लगातार एचएम को इसकी शिकायत करने के बावजूद एमडीएम सहित स्कूल की अन्य बुनियादी सुविधाओं में सुधार नहीं किया जा रहा है।ये कई बार देखने को मिलता है की बच्चो के खाना में छिपकली गिर जाती है और उसी खाने को खिला दिया जाता है।

सुपौल मामला:हेडमास्टर की हुई पिटाई:-

वहीं इतनी बड़ी वारदात पर भी प्रखंड से लेकर जिला तक से शिक्षा विभाग के कोई अधिकारी नहीं पहुंचने से आक्रोशित ग्रामीणों ने स्कूल के हेडमास्टर की पिटाई कर दी। इस दौरान वहां पुलिस भी मौजूद थी। लेकिन गुस्साई भीड़ को देखते हुए पुलिसकर्मी कुछ नहीं कर सके और परिजनों ने हेडमास्टर की पिटाई कर दी।हंगामा बढ़ता देख बीडीओ राजा राम पासवान स्कूल पहुंचे और कार्रवाई का आश्वासन देकर मामले को शांत कराया। वहीं स्कूल की कुव्यवस्था पर हंगामा के बाद विद्यालय की सचिव ने भी हेडमास्टर का सारा कच्चा चिट्ठा खोल दिया। उनका कहना था कि विद्यालय प्रबंधन के नाम पर वो केवल चेक पर साइन करती थीं। सारी योजनाओं का संचालन हेडमास्टर खुद करते थे।सुन ने में ये भी मिला था की बच्चो के ये बताने के बाद भी खाना दिया गया की खाने में छिपकली गिरी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *