Fri. Aug 14th, 2020

गैंगरेप पीड़िता ने काट लिया था तत्कालीन MLA का निजी अंग , किसको मिली उम्रकैद

गैंगरेप पीड़िता ने काट लिया था तत्कालीन MLA का निजी अंग , किसको मिली उम्रकैद
गैंगरेप पीड़िता : गैंगरेप के आरोपी पूर्व विधायक योगेंद्र सरदार को घटना के 25 साल बाद आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसी मामले में तीन अन्य दोषी को भी विधायक योगेन्द्र सरदार सहित तीन अन्य को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। इसके अतिरिक्त इन सबपर एक लाख का जुर्माना भी लगाया गया है। दो धाराओं में सभी को 1 -1 लाख का अर्थदंड दिया गया है जिसकी राशि राज्य सरकार के कोष में जमा करने का निर्देश कोर्ट ने दिया है।

गैंगरेप पीड़िता : मामला 24 साल पुराना

बता दें कि ये मामला त्रिवेणीगंज में साल 1994 में हुआ था। इसी मामले को जब बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि मामला 24 साल पुराना है इसलिए इसमें राहत दी जाए तो कोर्ट ने इस मांग को खारिज कर दिया।बता दें कि 16 नवंबर 1994 की रात पीड़िता अपनी मां के साथ सोई हुई थी। इसी बीच पूर्व विधायक योगेन्द्र नारायण सरदार, शंभू सिंह, उमा सरदार और भूपेन्द्र यादव सहित दो-तीन अज्ञात मिलकर रात करीब 12 बजे पीड़िता के घर आए और लड़की का हाथ-मुंह बांधकर जीप से लेकर चले गए।आरोपियों ने एक कमरे में ले जाकर बारी-बारी से उसका रेप किया। दुष्कर्म के दौरान लड़की ने पूर्व विधायक को नाजुक अंग को काट लिया था। इसके बाद दुष्किर्मियों के चंगुल से भागकर किसी तरह अपने घर आई और परिजनों को आपबीती सुनाई।

त्रिवेणीगंज थाने में दर्ज था केस :

जख्मी हालत में लड़की की मेडिकल जांच कराई गई। 19 नवंबर 1994 को पीड़िता के बयान पर त्रिवेणीगंज थाना में केस दर्ज कराया था। मामले में पीड़िता ने त्रिवेणीगंज थाना में केस दर्ज कर शंभू सिंह, भूपेन्द्र सरदार, योगेन्द्र नारायण सरदार, उमा सरदार, रामफल यादव और हरिलाल शर्मा उर्फ हरिनारायण शर्मा को नामजद किया था।इनमें से एक आरोपी रामफल यादव की मौत हो चुकी है। हरिलाल शर्मा उर्फ हरिनारायण शर्मा फरार चल रहे हैं। मामले में अभियोजन पक्ष से 11 और बचाव पक्ष से 7 लोगों की गवाही हुई थी। विधायक जनता दल से त्रिवेणीगंज के विधायक थे।इस मामले में बीते सोमवार को एडीजे थ्री रविरंजन मिश्र की अदालत ने पूर्व विधायक योगेन्द्र नारायण सरदार समेत चार अन्य आरोपी को दोषी माना था।कोर्ट ने सजा के बिंदु पर बहस के लिए 31 जनवरी का समय दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *