Sun. Jan 19th, 2020

नित्यानंद का बयान, CAA के खिलाफ विपक्ष फैला रहा है गलत अफवाह

नित्यानंद का बयान

नित्यानंद का बयान- देशभर में सबसे ज्यादा चर्चित सीएए को लेकर नित्यानंद ने कहा कि विपक्ष ही है जो लोगों को इसके खिलाफ भड़का रहा है और गलत अफवाएं फैला कर गुमराह कर रहा है। उन्होंने बताया कि सीएए नागरिकता छीनने का नहीं देने का कानून है। वह शनिवार को चकिया के गांधी मैदान में सीएए के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। सीएए को बिना जाने लोग किसी पर विश्वास न आकर क्यूंकि गलत अफवाह फैला कर इसे गलत ढंग से विपक्षी बता रहे हैं।

सीएए को लेकर नित्यानंद का बयान

नित्यानंद ने देशभर में नागरिकता कानून लागू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्रे मोदी व ग्रहमंत्री को ढेरों बधाईयां दी और कहा कि चंपारण के लोगों ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में स्वतंत्रता आंदोलन की अगुवाई की। साथ ही कहा कि देश का विभाजन होना ही नहीं चाहिए था। गांधी की इस धरती से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश, बिहार और शरणार्थियों की ओर से बधाई देते हैं, जिन्होंने सीएए लागू कर गांधी के अरमानों को पूरा किया। इससे पूर्व उन्होंने गांधी मैदान में स्थापित राष्ट्रीय धरोहर ध्वज का लोकार्पण किया। यहां सैकड़ों लोगों के साथ राष्ट्रीय गान गाकर तिरंगे को सलामी दी। मौके पर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। नित्यानंद ने कहा सीएए एक सही कदम है, इसे हर किसी को स्वीकार करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- ठूंठ को जलाने का उपाय है बिहार की ग्रामीण औरतों के पास

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने बताया कि बंगाल के उपद्रव पर डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी ने उसी समय एक बड़ी बात कही थी कि उपद्रव देश के बंटवारे की साजिश है। उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर प्रताडि़त हुए हैं या 31 दिसंबर 14 के पहले इस भारत की भूमि पर आ गए हैं, उन शरणार्थियों को हम नागरिकता देंगे। फिर इसपर तो कोई सवाल बनता ही नहीं विरोधी इस कानून का विरोध कर देश की संपत्ति का नुकसान कर रहे हैं और सत्ता में आने के लिए इसकी गलत परिभाषा दे रहे हैं, लेकिन उन्हें ऐसा नहीं करने दिया जाएगा। कहा कि 21 वीं सदी में देश विश्व गुरु बनने जा रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा आतंकवादियों पर की जा रही सख्ती पर कहा कि आतंकवादियों को जेल भेज रहे हैं या जहन्नूम भेजा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *