Sat. Dec 7th, 2019

साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी भर्ती 2019 : इन पदों पर निकली वैकंसी, पाइये पूरी जानकारी

साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी भर्ती 2019

साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी भर्ती 2019 :  साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी को प्रोफेसर, सह-प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों के लिए युवा और अनुभवी उम्मीदवारों की तलाश है। यदि आपने पोस्ट-ग्रेजुएशन पास कर ली है और आप सरकारी नौकरी की तलाश में हैं, तो आप इन पदों के लिए इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों द्वारा 18-12-2019 (अंतिम तिथि) तक आवेदन कर सकते हैं। आपको इस नौकरी के लिए जल्द से जल्द आवेदन करना चाहिए।

आवेदन करने की अंतिम तिथि, आवेदन शुल्क, नौकरी के लिए चयन प्रक्रिया, नौकरी के लिए आयु सीमा, पदों का विवरण, पदों के नाम, नौकरी के लिए शैक्षणिक योग्यता, पदों की कुल संख्या के लिए योग्य और इच्छुक उम्मीदवार। नौकरी से संबंधित बहुत महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

मोनालिसा का हॉट अंदाज, अपनी इस तस्वीर से बनाया लाखों को दीवाना

साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी भर्ती 2019 : सभी ज़रूरी बातें

पद का नाम- प्रोफेसर, सह-प्रोफेसर, सहायक प्रोफेसर
 
कुल पद – 61
 
आवेदन शुल्क: कोई आवेदन पत्र नहीं है।

पद का नाम पद संख्या योग्यता आयु सीमा वेतन
10 से 15 वर्षों के अनुभव के साथ प्रोफेसर 11 एम.फिल।, पी। एसीएचडी –
एसोसिएट प्रोफेसर 18 M.Phil, P.H.D. 8 से 10 साल के अनुभव के साथ –
सहायक प्रोफेसर 32 एम.फिल।, 3 से 5 साल के अनुभव के साथ पीएचडी

 चयन प्रक्रिया

चयन प्रक्रिया उम्मीदवार का चयन साक्षात्कार के आधार पर किया जाएगा।

आवेदन कैसे करें

उम्मीदवार दस्तावेजों और प्रमाणित प्रमाणपत्रों की प्रमाणित प्रतियों के साथ आवेदन पत्र के निर्धारित प्रारूप पर आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवारों से अनुरोध है कि आवेदन पत्र भरते समय सभी सूचनाओं और विवरणों को सावधानीपूर्वक भरें।

बीते दिनों का मामला आपको याद ही होगा। बिहार विधानसभा में 166 ग्रुप डी के रिक्त पदों के लिए 5 लाख स्नातक, स्नातकोत्तर, एमबीए और एमसीए डिग्री धारकों ने आवेदन किया था। यदि अंत में इन्हे चुना जाता है, तो वे चपरासी, माली, द्वारपाल, सफाईकर्मी जैसे पदों पर काम करेंगे।

गीतकार संतोष आनंद की प्रेम कहानी, इतनें सालों बाद मिली बिछुड़ी प्रेमिका

अंग्रेजी में पोस्ट-ग्रेजुएट अमित जायसवाल ने एएनआई न्यूज़ एजेंसी को बताया कि बेरोजगारी के कारण वह इस नौकरी के लिए आवेदन करने को मजबूर हैं। उन्होंने दावा किया कि उच्च शिक्षा की डिग्री वाले लोगों को निजी क्षेत्र में 10,000 रुपये के मूल वेतन के साथ नौकरी भी नहीं मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *