Sat. Oct 31st, 2020

इस बार चुनाव में स्मार्ट ईवीएम की सहायता से होगा मतदान, जानिए इसकी एडवांसमेंट

स्मार्ट ईवीएम

विधानसभा चुनाव 2020 में इस्तेमाल होने वाले स्मार्ट ईवीएम पतले आकार का हल्के वजन का और अधिक क्षमता का होगा। वहीं, पुराने ईवीएम की बात करें तो वह ज़्यादा से ज़्यादा 64 उम्मीदवारों के लिए उपयोग हुआ करता था। एक सीयू से ज़्यादा चार बीयू कनेक्ट हो सकती थी। लेकिन नई एम-3 के सीयू से 24 बियू कनेक्ट हो पाएंगी। इसकी क्षमता के बारे में बताएं तो ये 384 उम्मीदवारों का डेटा संभाल सकती है।

स्मार्ट ईवीएम बैलेट यूनिट में नई तकनीक का इस्तेमाल

इस स्मार्ट ईसीएम की बैलेट यूनिट में नई तकनीक का उपयोग हुआ है। कंट्रोल यूनिट से जुड़कर जैसे ही बैलेट यूनिट चालू होगी, कुछ ही पल में यह सभी उम्मीदवारों का नाम, चुनाव चिह्न और क्रमांक रीड कर लेगी। वोटर्स अपने उम्मीदवारों का नाम, क्रमांक, चुनाव चिह्न अथवा ब्रेल लिपि के आधार पर पहचान बटन को दबा सकते हैं। बैलेट यूनिट से सटे हुए वीवीपैट पर जिस उम्मीदवार के पक्ष में मत पड़ेगा वह नाम सात सेकंड के लिए प्रदर्शित हो जाएगा।

दृष्टिबाधित मतदाताओं के लिए भी सुविधा उपलब्ध

इस बार बैलेट यूनिट पर दृष्टिबाधित के लिए अलग से ब्रेल लिपि के डमी बैलेट पेपर की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। चुनाव आयोग द्वारा उपलब्ध कराई गई नई बैलेट यूनिट में इस बार ब्रेल लिपि पहले से मौजूद है। दृष्टिबाधित वोटर सीधे बैलेट यूनिट के दाईं और ब्रेल लिपि टटोलकर सही क्रमांक वाला बटन दबा देंगे। इस तरह से मतदान में समय की बचत भी ही पाएगी।

अपको बता दें कि मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी आने की संभावना कम है। ईवीएम, बैलेट यूनिट और वीवीपैट को जोड़ने वाले सभी केबल अलग अलग रंग के होंगे। रंग मिलाकर इन्हें आसानी से कनेक्ट किया जा सकेगा। तीनों मशीनों में जो भी खराबी आयेगी उसे भी यह एम -3 ईवीएम ढूंढकर प्रदर्शित करेगी। पहले पूरा सीट बदलना पड़ता था लेकिन अब जिस यूनिट में दिक्कत आएगी या कनेक्शन गलत होगा सिर्फ़ उसे है बदला जाएगा।

इस समय दक्षिण कोरिया में कोरोना पॉज़िटिव मामलों की कुल संख्या 23,812 तक पहुंच चुकी है जिसमें से 21,470 लोग बीमारी से उबरे हैं और 413 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

 

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *