Sun. Sep 27th, 2020

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय ने इस घोटाले में जाँच किये जाने की मांग की

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय की मांग : झारखंड के पूर्व मंत्री और जमशेदपुर के पूर्व विधायक सरयू राय ने एक बार फिर पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर निशाना साधा है और पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास पर नौकरी घोटाले का आरोप लगाया है। राय ने आरोप लगाया कि दास ने एक ही दिन में 26,000 नौकरियां देने का दावा किया था जो कि गलत है। राय ने नौकरी घोटाले की जांच की मांग की।

पूर्व भाजपा नेता राय ने दास को 2019 में जमशेदपुर पूर्व से विधानसभा चुनावों में हराया था। सरयू राय ने संवाददाताओं से कहा, “पिछली रघुबर दास सरकार ने एक ही दिन में 26,000 युवाओं को नौकरी देने का दावा किया था। यह एक धोखा था। हम हेमंत सोरेन सरकार से जांच की मांग करते हैं।”

कन्हैया कुमार की सुपौल रैली में पथराव किस वजह से हुई ?

पूर्व भाजपा नेता सरयू राय की मांग : पढ़िए पूरा बयान ……..

उन्होंने कहा, “12 जनवरी, 2018 को, राज्य सरकार ने काफी धूमधाम से एक ही दिन में 26,000 युवाओं को रोजगार देने की घोषणा की। सरकार ने लोगों के नाम, पते और मोबाइल फोन नंबर होने का दावा किया है।”

“मैंने अपनी ओर से मामले की जांच की है और ऐसा लगता है कि दावे एक छलावा प्रतीत होते हैं। 26,000 नौकरियों का दावा लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज किया गया था।” राय ने कहा।

लूट के दौरान ट्रक ड्राइवर और हेल्पर को मारी गोली , एक की मौत दूसरा गंभीर

उन्होंने कहा कि रघुबर दास की तत्कालीन राज्य सरकार के दावों और कौशल विकास मिशन के रिकॉर्ड पर घोर गलत मेल था। 12 जनवरी, 2018 को यह दावा किया गया था कि 26,693 युवाओं को नौकरी दी गई थी, लेकिन जब कौशल विकास मिशन ने एक जांच की, तो 11,541 ऐसे युवाओं के फोन नंबर बंद थे या फिर उपलब्ध नहीं थे, जिनमें से 878 युवा मौजूदा पाए गए, और एक अन्य 261 गलत नंबर थे।

अब सरयू राय सरकार में शामिल तो होने से रहे इसलिए ऐसे बयान देकर सुर्ख़ियों में बने रहना उनका शौक बन चुका है। इतना ही ईगो हर्ट हुआ था तो राय साहब ने पहले क्यों नहीं जाँच करवाए जाने की पहल की थी ? आखिर वह रघुबर दास से इजाज़त मांगने जा रहे थे ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *