Sun. Oct 25th, 2020

जदयू ने आरजेडी पर साधा निशाना, कहा- जगजाहिर है कौन “खजाने” को गिद्ध की दृष्टि से देखता था

आज आरजेडी पर धावा बोलते हुए जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने यह कह दिया कि जगजाहिर है कि कौन बिहार के खजाने को गिद्ध की दृष्टि से देखता था। जनता जानती है कि किसने चारा घोटाला किया और किसने बिहार के खजाने से अवैध निकासी की जब बिहार और झारखंड एक हुआ करते थे। और तो और कोर्ट ने इसकी सजा भी सुनाई है जो लालू यादव अब भी होटवार जेल में काट रहे हैं। सभी को पता है कि कौन गिद्ध और चील की भूमिका में रहा है।

 आरजेडी

जानिए ये खास बातें

यदि प्रवक्ता संजय जी ने आरजेडी पर यह आरोप लगाया कि लालू प्रसाद यादव के साथ जितने भी लोग जुड़े थे किसी की नजर अलकतरा पर थी तो किसी की नजर जमीन पर। किसी ने गाड़ियों का शोरूम लूट लिया और लालू यादव तो इन सब का संरक्षक रहे हैं। यह सारी लुटेरे लोग आपको अपना आका मानते हैं और जब घोटाले की सच खुली तो यह सब लोग आपको छोड़कर भाग गए।

संजय सिंह के इस बयान पर आरजेडी ने पलटवार करते हुए यह कहा कि भाजपा और जदयू जितनी उर्जा लालू प्रसाद यादव और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ दुष्प्रचार करने में लगी है अगर इसमें से थोड़ी भी अपनी जिम्मेदारियों पर लगाते तो शायद बिहार को यह दुर्दशा नहीं झेलनी पड़ती।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने यह भी कहा कि 15 साल में इनके उपलब्धि के नाम पर लालू प्रसाद यादव के खिलाफ साजिश और षड्यंत्र रचने के अलावा और कोई भी काम नहीं हुआ। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जदयू प्रवक्ता जनता का ध्यान भटकाने के लिए अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं।

इसको फिर पलटवार करते हुए जदयू परवेश प्रवक्ता निखिल मंडल ने तेजस्वी यादव के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। और आरोप लगाया है कि झूठ, फरेब भ्रष्टाचार जिस व्यक्ति की जमा पूंजी है, वह व्यक्ति उस ‘कुशासन’ काल का प्रतीक है जिसे अदालत ने भी जंगलराज की संज्ञा दी थी, और वह आज क्या हो रहा है।
जनता यह भी नहीं भूली कि कुछ दिन पहले ही माफी मांगते फिर रहे थे।

जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने अभी कहा कि तेजस्वी बाबू भूले नहीं कि वे उसी काल के प्रतीक हैं जो बिहार के विकास और लोगों के लिए काल साबित हुआ। कहा कि एक ऐसी सरकार और ऐसे सीएम पर उंगली उठा रहे हैं जिसका लोहा देश मानता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *