Sat. Dec 7th, 2019

न्‍यायिक सेवा परीक्षा का परिणाम ज़ारी, कई होनहारों ने किया अपना नाम

न्‍यायिक सेवा परीक्षा का परिणाम

बीपीएसएसी की ओर से  हुई न्‍यायिक सेवा परीक्षा का परिणाम आ गया है। बिहार के कई होनहारों ने इस परीक्षा में अपने जिले का नाम रौशन किया है। कई परीक्षार्थियों ने परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त किये हैं। इसमें जमुई से नाइट गार्ड के बेटे ने बजी मारी है, वहीं पटना के गौरव ने तीसरा स्थान प्राप्त कर के पुरे पटना का नाम किया है। सिर्फ इतना ही नहीं शादी के बाद भी परीक्षा की तैयारी करके नालंदा की एक बहु ने इसमें सफलता प्राप्त की और अपने ससुरालवालों का नाम पुरे जिले में किया है। बिहार ने ये हमेशा साबित किया है कि चाहे खेलकूद हो या पढ़ाई बिहार किसी से भी पीछे नहीं है।

न्‍यायिक सेवा परीक्षा का परिणाम, गौरव को मिली सफलता

बीपीएससी की तरफ से यह न्यायिक सेवा परीक्षा ली गयी थी। इस परीक्षा का परिणाम आ गया है जिसमें कई छात्रों ने अपनी जगह बनायीं है। पटना के गौरव 26 वर्ष ने परीक्षा में तीसरा स्थान प्राप्त किया है। इनकी इस सफलता से पुरे परिवार में ख़ुशी का माहौल है। पूरा इलाक़ इनको बधाई देने घर तक आ रहा है। गौरव के पिता समस्तीपुर रेलवे में वरीय डीपीओ के पद पर पोस्‍टेड हैं। वर्ष 2009 में गौरव ने पटना के डीपीएस स्‍कूल से 10वीं की परीक्षा पास की, जबकि उसने 2011 में शिवम स्कूल से इंटरमीडिएट किया। इसके बाद चाणक्‍या लॉ यूनिवर्सिटी से लॉ की परीक्षा पास की। आज इस परीक्षा में सफलता पाने के बाद इनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं है।

 

नालंदा की बहु ने दिखाया लड़कियां किसी कम नहीं

किसने कहा लड़की शादी के बाद बस घर के काम करती है? यहाँ तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है बहु को भी बेटी की तरह पढ़ने दिया और अपने पैरों पर खड़े होने का मौका दिया। नालंदा के नूरसराय प्रखंड के सकरौढा गांव निवासी बृज किशोर सिंह के परिवार की बहू जज बनने में कामयाब रही। गेसू ने पुणे के आईएलएस लॉ कॉलेज से मास्टर की डिग्री हासिल की है। 30 वीं न्यायिक सेवा परीक्षा का रिजल्ट आया, तो पूरा परिवार खुशी से झूम उठा। गेसू ने अपने मायके और ससुरालवालों दोनों का नाम किया है। पति अवनीश आनंद के सहयोग से पत्नी गेसू ने ससुराल व मायके के बीच कुछ इस तरह सामंजस्य बैठाया कि वह इस परिवार की बेटी बन गई। सास और ससुर ने बड़े फक्र से कहा कि गेहू हमारी बहु नहीं बेटी है।

 

यह भी पढ़ें- हॉन्कॉन्ग की सरकार ने करी मदद बिहार बाढ़ पीड़ितों के वास्ते

नाईट गार्ड के बेटे अनीश ने किया नाम

पिता के मेहनत की अगर बेटा कदर करे और अपना ध्यान पढ़ने पे लगाए तो सफलता जरूर हासिल होती है। नाईट गार्ड की ड्यूटी कर के किसी तरह परिवार का पेट पालने वाले मनोहर सिंह के बेटे ने अनीश कुमार सिंह ने बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में अपना नाम किया है। बड़ी ही मेहनत और लगन से पढ़ाई करके आज अनीश इस मुकाम तक पहुंचे हैं। आर्थिक विपन्नता के कारण उसने मैट्रिक तक की शिक्षा एक रिश्तेदार के घर पर रह कर पूरी की। आज पूरा परिवार ख़ुशी से झूम रहा है। घर का हर एक सदस्य इन्हे बधाई दे रहा है और ख़ुशी में शामिल हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *