Sat. Jul 4th, 2020

बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी खुद प्लेन उड़ाकर यात्रियों को दिल्ली से लेकर पहुंचे पटना

कोरोना वायरस में कारण लंबे समय से देश मे हवाई यात्रा बंद थी जो कि लगभग दो महीने सोमवार को वापस शुरू हो गई है,फिलहाल सरकार ने घरेलू यात्रा शुरू करने पर फैसला लिया है। सभी यात्रियों को मास्क पहनना, मेडिकल जाँच करवा अनिवार्य है, इसके अलावा लगेज को सैनिटाइज और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन अनिवार्य है। इस नए नियमों के हवाई उड़ान में बिहार के सारण से सांसद राजीव प्रताप रूडी आज हवाई उड़ान में पहले दिन पायलेट के रूप में विमान लेकर दिल्ली से पटना पहुँचे, राजीव दिल्ली से इंडिगो की 6126 फ्लाइट लेकर पटना पहुँचे, इस दौरान विमान के यात्री काफी खुश नजर आए।

बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी का यात्रियों ने किया आभार प्रकट

मीडिया से बात करते हुए राजीव प्रताप रूडी ने बताया कि यात्रियों में थोड़ा भय था,लेकिन राजीव प्रताप रूडी ने यात्रियों को बताया कि वे पिछले 10 साल से ऐसे ही पटना आते हैं, उन्होंने बताया कि पटना से जो विमान सेवा शुरू हुई है राजीव उसके कप्तान की भूमिका में थे, उन्होंने यात्रियों को यह महसूस करवाया की सभी यात्री स्वस्थ हैं, वातावरण अच्छा है और डरने या घबराने जैसी कोई बात नही है।

नए है सारे नियम

राजीव प्रताप रूडी ने बिहार सरकार की व्यवस्थाओं को बारे में जानकारी देते हुए कहा कि बिहार सरकार ने अच्छी व्यवस्था कर रखी है, कोई क्वारन्टीन नियम नही है,यात्रियों को शुरू में थोड़ा कंफ्यूजन हुआ था पर बाद में डीएम द्वारा बात होने पर सभी परेशानियां और संशय खत्म हो गए। यात्रा को लेकर बातचीत में उन्होंने बताया कि यात्रा के नियम और मानक नए होने के कारण यात्रियों को काफी नए तरीके से यात्रा करनी पड़ रही है।

खाने पीने की व्यवस्था नही है,टॉयलेट का इस्तेमाल कम से कम करना है,प्लेन में यात्रियों को पानी भी खुद ही लेना पड़ रहा क्यों कि उनके पास कोई जाएगा नही,पहली बार इस तरह यात्रा करना लोगो के लिए नया और कठिन है। राजीव जी ने प्रधानमंत्री के हवाई सेवा शुरू करवाने के निर्णय को बड़ा बताते हुए ,प्रसंशा की ,उन्होंने कहा पटना हवाई अड्डा से यात्रियों का सबसे अधिक आना होता है इसी के साथ उन्होंने राज्य सरकार की व्यवस्था को भी अच्छा बताया।

प्रवासी मजदूरों की बात पर उन्होंने कहा कि यूनिफॉर्म में इस बारे में कुछ कहना सही नही होगा,सभी श्रमिक हमारे भाई है,प्रश्न उठेंगे की इतनी भारी संख्या में लोग बिहार छोड़ कर क्यों गए थे,ये सभी लोग बिहार के लिए बड़ी चुनौती है जिसे अवसर में बदलना होगा। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री हों या बिहार के मुख्यमंत्री दोनो में ही मन के कोई बात जरूर होगी क्योंकि इसको एक नीतिगत फैसले की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *