Tue. Apr 7th, 2020

महागठबंधन में आ रही दरार, RLSP ने दिखाया सख्त तेवर, बोली- RJD त्यागे अहंकार

महागठबंधन

जैसे जैसे बिहार विधानसभा चुनाव में दिन नजदीक आते जा रहे हैं चुनावी पार्टियों में भी हलचल काफी बढ़ रही है। सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ साथ गठबंधन भी अपनी अपनी तैयारियों में जोर शोर से लग गए है। वैसे तो यह साफ देखने को मिल रहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए मजबूती से खड़ी है मगर दूसरी तरफ महागठबंधन में दरार दिख रही है। RSLP समेत तमाम छोटी पार्टियां नीतीश की RJD पर दबाव डाला रही है कि जल्द से जल्द को-ऑर्डिनेशन कमेटी बना लें अन्यथा सभी पार्टियां अपना अपना रास्ता देख लेंगी।

महागठबंधन में दरार, एनडीए नेता खुश

हालांकि नीतीश कुमार ने इसपर साफ कर दिया है कि उनकी पार्टी के बिना किसी का कोई खास महत्व नही है। बिहार में महागठबंधन को लेकर जो खींचतान मचा हुआ है उसे देख कर एनडीए के नेता काफी खुश हैं। इसी बीच कांग्रेस भी अपना अस्तित्व बचाने के लिए अन्य पार्टियों के साथ सामंजस्य बिठाने का प्रयास कर रही। बताते चलें कि जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने बताया कि RJD एक अलग ही दिशा में चलती है और उसका हमेशा से एक ही लक्ष्य रहा है, खाओ और खाने मत दो। यही वजह है कि जनता दल में कई बार फुट पड़ चुकी है। उनके अनुसार यह गठबंधन टिक नही पायेगा क्योंकि RJD सम्पूर्ण सत्ता पर अकेले ही राज करना चाहती है।

महागठबंधन सिर्फ कहने भर का : BJP

जिस तरह से बिहार मविन महागठबंधन को लेकर रस्साकसी मची पड़ी है उसे देखते हुए BJP के विधायक संजीव चौरसिया ने एक इंटरव्यू में बताया कि यह महागठबंधन सिर्फ कहने भर का है। इन पार्टियों में किसी तरह का कोई सामंजस्य ही नहीं है। RSLP ने कहा, अहंकार छोड़ दे RJD जिस तरह की परिस्थितियां बिहार में बंटी दिख रही उसे देखते हुए राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RSLP) ने भी सख्त तेवर अपनाते हुए कहा कि सभी लोग चाहते है कि तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बन जाएं मगर यह तभी मुमकिन हो सकता है जब सभी लोग साथ मे मिलेंगे।

पार्टी के प्रधान महासचिव माधव आनंद ने कहा कि यदि सभी पार्टियां एक जुट नही हुई तो एक बार फिर से नीतीश ही मुख्यमंत्री बनेंगे और इसमें कोई दो राय नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि RJD ने जो अहंकार पाल रखा है उसे त्यागना होगा साथ ही उन्होंने यह भी उम्मीद जताई है कि RJD कमेटी बनाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *