Mon. Dec 9th, 2019

तेजस्वी का खुलासा : मुझे भी ऑफर की गई थी बिहार के सीएम की कुर्सी

तेजस्वी का खुलासा : मुझे भी ऑफर की गई थी बिहार के सीएम की कुर्सी
तेजस्वी का खुलासा : बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को बिहार विधानसभा में बड़ा खुलासा किया और कहा कि मुझे भी बिहार के सीएम की कुर्सी ऑफर की गई थी। मीडिया से बात करने के दौरान तेजस्वी ने पहले महाराष्ट्र प्रकरण पर बयान दिया। इस दौरान तेजस्वी ने कहा कि हमलोगों ने कभी भी अपनी नीति से समझौता नहीं किया है। तेजस्वी ने इस दौरान कहा कि अगर हम लोग अपने सिद्धांतों से समझौता कर लिए होते तो आज प्रदेश में मुख्यमंत्री राजद का होता और डिप्टी सीएम सुशील मोदी होते। तेजस्वी ने ये खुलासा महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उलटफेर के दौरान कहा। तेजस्वी के निशाने पर पूरी तरह से सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी रहे। विधानसभा के बाद पार्टी कार्यालय में भी तेजस्वी ने फिर से दुहराया कि अगर उन्होंने भी नीतीश कुमार की तरह बीजेपी से समझौता किया होता तो आज नीतीश जी की जगह मुख्यमंत्री मैं होता और डिप्टी सीएम सुशील मोदी जी ही होते।

तेजस्वी का खुलासा : अक्रामक दिखे तेजस्वी :

तेजस्वी के इस बयान के बाद जब सरकार की तरफ से प्रतिक्रिया ली गई तो JDU कोटे के मंत्री श्रवण कुमार ने तंज कसते हुए कहा कि आज भी अगर तेजस्वी चाहें तो अपने दिली इच्छा पूरी कर सकते हैं। उनको रोका किसने है,तेजस्वी सोमवार को विधानसभा में काफी अक्रामक दिखे। उन्होंन सदन के अंदर और बाहर दोनों जगहों पर सरकार को निशाने पर लिया।

लाठीचार्ज को बताया जब्बरजस्ती :

रविवार को हुए लाठीचार्ज का भी जिक्र करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार आज विरोधियों के खिलाफ दमनकारी नीति अपना रही है। कोई भी विरोध करने पर लोगों को दबाने की कोशिश की जा रही है। रविवार को मेरे सहयोगी और कांग्रेस द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया जा रहा था लेकिन सरकार ने तानाशाह रवैया दिखाया। पटना में कांग्रेस के लोगों पर हुई लाठीचार्ज की आरजेडी घोर निंदा करती है।नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार अपनी लाठी का इस्तेमाल कर रही है लेकिन मैं कहूंगा कि वो अपने अंदर की खामियों को झांककर देखें। आज बिहार में सबसे बड़ा मसला बेरोजगारी का है। बिहार की बदहाली के लिए नीतीश कुमार और सुशील मोदी जिम्मेदार हैं।
यह भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *