Thu. Jun 4th, 2020

नीतीश के लिए ये क्या बोल गए तेजप्रताप , पार्टी के वरिष्ठों ने कहा – मर्यादा में रहो

नीतीश के लिए ये क्या बोल गए तेजप्रताप , पार्टी के वरिष्ठों ने कहा - मर्यादा में रहो
क्या बोल गए तेजप्रताप : अपने बयानों या फिर किसी न किसी काम को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले तेजप्रताप एक बार फिर चर्चा में हैं। लेकिन इस बार वह मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं। उसका कारण है कि सीएम नीतीश कुमार को लेकर की गई उनकी एक टिप्पणी के बाद अब न केवल वह विपक्ष के निशाने पर हैं बल्कि उनकी पार्टी के भी वरिष्ठ नेता अब उन्हें मर्यादा में रहने की नसीहत दे रहे हैं। दरअसल तेजप्रताप ने मसौढ़ी में एनआरसी और सीएए को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान कहा कि हमने सीएम का नया नामकरण कर दिया है, अब उन्हें नीतीश कुमारी कहा जाएगा। इसके साथ उन्होंने एक और आपत्तिजनक बात कही। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील माेदी ने आपस में शादी कर ली है।

जेडीयू के नेता ने तेजप्रताप को पागल करार दिया :

तेजप्रताप के ये बयान आने के बाद जेडीयू के साथ बीजेपी ने भी सख्त रुख अपनाया है। जेडीयू के नेता आलोक ने तेजप्रताप को पागल तक करार दे दिया। वहीं बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि तेजप्रताप को अपनी इस बदजुबानी के लिए सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी से माफी मांगनी चाहिए।वहीं एनडीए के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि तेजप्रताप आदतन बदजुबानी कर रहे हैं। वह बदतमीज हो गए हैं, ऐसी भाषा बोलने वालों की जगह पागलखाने से बेहतर और कोई नहीं है। वहीं आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद ने तेजप्रताप के बयान को गलत बताया। रघुवंश ने कहा कि उनका बयान पूरी तरह से गलत‌ है और उन्हें मर्यादा में रहना चाहिए।

क्या बोल गए तेजप्रताप : कही सामने आकर लड़ाई लड़ने की बात

इसके साथ ही तेजप्रताप ने कहा कि बीजेपी और जेडीयू के नेताओं में यदि हिम्मत है तो सामने आकर लड़ाई लड़ें, घर पर चूड़ी पहन कर न बैठें। उन्होंने कहा कि यदि लालू जी जेल से बाहर आ जाएं तो गर्दा उड़ जाएगा और
यदि वे बाहर होते तो यकीनन ऐसा काला कानून कभी लागू नहीं होता।उल्लेखनीय है कि तेजप्रताप पहले भी अपने बयानों और कामों को लेकर चर्चा में रहे हैं और विपक्ष हमेशा से ही उन पर यह आरोप लगाता आया है कि वह सुर्खियों में बने रहने के लिए ऐसी बयानबाजी करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *