Thu. Apr 2nd, 2020

पटना में अपराधियों ने दिनदहाड़े प्रोफेसर को मारी गोली , हालत गंभीर

पटना में अपराधियों ने दिनदहाड़े प्रोफेसर को मारी गोली , हालत गंभीर
प्रोफेसर को मारी गोली : बिहार की राजधानी पटना में आपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। बुधवार को को भी एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। बिहार एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, अपराधियों ने पटना स्थित टीपीएस कॉलेज के एक प्रोफेसर को दिनदहाड़े गोली मार दी। इस घटना में प्रोफेसर गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। उन्‍हें तुरंत PMCH ले जाया गया है। उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है। प्रोफेसर की पहचान शिव नारायण के तौर पर की गई है। इस घटना से आसपास के इलाकों में दहशत फैल गई।

पेट्रोल पम्प कर्मियों से लूट के दौरान मारपीट भी की थी :

पटना जिले में इस तरह की कई घटनायें सामने आई है। कुछ दिनों पहले पटना जिले में अपराधियों ने एक आरटीआई एक्टिविस्ट की हत्या कर दी थी। यह घटना पालीगंज अनुमंडल के रनिया तालाब थाना क्षेत्र में हुई थी। अपराधियों ने आरटीआई एक्टिविस्ट पंकज कुमार को गोली मार दी थी। इसके अलावा दीघा इलाके में थाने से थोड़ी दूरी पर एक पेट्रोल पंप पर लूट की वारदात हुई थी। यहां बाइक सवार अपराधियों ने पेट्रोल पम्प कर्मियों से लूट के दौरान मारपीट भी की थी।

प्रोफेसर को मारी गोली : रिपोर्ट के अनुसार

बता दें कि NCRB ने साल 2018 की अपनी रिपोर्ट में देश भर के 19 मेट्रोपोलिटन शहरों में होनेवाली हत्याओं की वारदातों में पटना को पहले स्थान पर रखा है। रिपोर्ट में महिलाओं के खिलाफ आपराधिक वारदात बढ़ने की जानकारी भी मिली है। इस रिपोर्ट के अनुसार साल 2018 में महिलाओं के खिलाफ अपराध की संख्या 16,920 हो गए जो 2017 में 14,711 थी।दहेज के कारण होने वाली मौत में भी पटना पहले स्थान पर है। यहां साल 2018 में एक लाख की आबादी पर 2.5 लोगो की मौत दहेज के कारण हुई है। जबकि कानपुर में भी प्रति लाख 2.5 लोगों की मौत दहेज के कारण हुई। यानी दहेज के लिए हुई मौतों पर पटना और कानपुर संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *