Mon. Jun 1st, 2020

शरजील इमाम पर बोले कन्हैया – देशद्रोह की धाराओं का हो रहा गलत इस्तेमाल

शरजील इमाम पर बोले कन्हैया - देशद्रोह की धाराओं का हो रहा गलत इस्तेमाल
शरजील इमाम पर बोले कन्हैया : पूर्व जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष व सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने बताया कि गुरुवार से ‘संविधान बचाओ-नागरिकता बचाओ’ यात्रा शुरू होगी जो कि मोतिहारी भितरहरवा के बापूधाम से शुरू होकर ये यात्रा गांधी मैदान पटना में 29 फरवरी को सम्पन्न होगी। इस दिन गांधी मैदान में ही CAA, NRC और NPR  के विरोध में महारैली का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर कन्हैया ने देश की जनता करे पुकार, नहीं चाहिए ‘CAA, NRC और NPR, लोगों को चाहिए बस रोजगार’ का नया नारा भी दिया।

फिर देशद्रोहियों वाला भाषा बोल रहे कन्हैया :

इस दौरान कन्हैया कुमार ने शरजील इमाम के भड़काऊ स्पीच पर कहा कि शरजील के भाषण का हमारा समर्थन नहीं है। वे हमारे लोगों पर भी बोलते हैं पर देशद्रोह के मुकदमे के गलत इस्तेमाल पर सवाल करना जरूरी है।कन्हैया ने कहा कि आज कई जगहों पर बेवजह देशद्रोह का केस किया जा रहा है, देशद्रोह की धाराएं लगाई जा रही हैं। शरजील अगर देशद्रोही है तो वो साबित करे। मुझ पर भी देशद्रोह का मुकदमा चलाया गया था।इस मौके पर कन्हैया कुमार ने कहा कि नफरत को बढ़ाकर बुनियादी सवाल खत्म किए जा रहे हैं। देश की संविधान को बचाना सबसे बड़ा उद्देश्य वे किसी कीमत पर NRC और CAA लागू नही होने देंगे।

शरजील इमाम पर बोले कन्हैया : देश या मोदी के खिलाफ कन्हैया

इस दौरान कन्हैया ने सीएम नीतीश को अपने टारगेट पर लेते हुए कहा कि एनआरसी पर अगर वे अलग राय रखते हैं तो विधान सभा में कानून पास क्यों नही कराते। केरल की तरह यहां भी कानून पास हो। सिर्फ कहने से कम नही चलता।सीपीआई नेता ने कहा कि ने कहा कि हमलोगों को किसी को नागरिकता देने के विरोध में नहीं हैं पर इसके षड्यंत्र को समझना जरूर है। CAA की भारत मे जरूरत ही नहीं। ये एनपीआर और NRC की पहली कड़ी है।कन्हैया कुमार ने कहा कि अगर कोई कहता है कि दिनों अलग है तो फिर से हमे फ़ंसाने की कोशिश की जा रही है। एनपीआर घुसपैठियों की पहचान के लिए नहीं, गरीब लोगों के अधिकार को जब्त करने की कोशिश है।गांधी मैदान में गांधी मूर्ति के पास खुले में प्रेस वार्ता करते हुए कन्हैया ने कहा कि बिहार ने कभी हिंसा को पसंद नही किया। इस दौरान कांग्रेस नेता शकील अहमद खान और ब्रजेश सिंह भी मौजूद थे।एक बात तो साफ हो गया है की कन्हैया कुमार मोदी के खिलाफ बोलते बोलते देश के खिलाफ जो बोल रहे उनका साथ देने लगे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *