Mon. Dec 9th, 2019

कुशवाहा के अनशन पर नीतीश सरकार की दो टूक, ‘न देंगे जमीन और…….

कुशवाहा के अनशन पर नीतीश सरकार की दो टूक , 'न देंगे जमीन और.......
नीतीश सरकार : बिहार में शिक्षा व्‍यवस्‍था की दयनीय हालत में सुधार और केंद्रीय विद्यालयों के लिए जमीन की मांग काे लेकर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा मंगलवार से आमरण अनशन पर हैं। इस बीच उनके महागठबंधन के नेताओं के साथ ही बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान भी गुरुवार को उनका हाल-चाल लेने पहुंचे लेकिन, राज्य सरकार की ओर से कोई उनका हाल लेने भी नहीं पहुंचा है। इस बीच सरकार के दो मंत्रियों ने उनकी मांग को ही खारिज कर दिया है।

नीतीश सरकार : मैं जूस पिलाने नहीं जाऊंगा :

गुरुवार को सरकार के दो मंत्रियों ने एक साथ मीडिया के माध्यम स्पष्ट कर दिया कि राज्य सरकार केंद्रीय विद्यालय के लिए जमीन नहीं देगी। शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने उपेंद्र कुशवाहा के अनशन को राजनीतिक ड्रामा करार दिया। दोनों ही मंत्रियों ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा जब नीतीश कुमार के साथ एक पार्टी में थे तब भी उन्हें पता था कि राज्य सरकार के पास जमीन नहीं है। बिहार सरकार के मंत्रियों ने कहा कि जमीन की कमी को लेकर राज्य सरकार ने कई बार पत्राचार कर भी केंद्र सरकार को अवगत कराया था। इसको लेकर वर्ष 2007 से लेकर 2018 तक कई बार पत्र भी लिखे गए थे। इस बीच कुशवाहा का अनशन खत्म करवाने के सवाल पर शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने साफ कह दिया मैं जूस पिलाने नहीं जाऊंगा। अगर कुशवाहा की हालत बिगड़ रही है तो उसके लिए मेडिकल टीम वहां मुस्तैद है।

सरकार निःशुल्क जमीन देने की स्थिति में नहीं :

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य में 2950 पंचायतों में हाईस्कूल खोले जाने के लिए भी राज्य सरकार के पास जमीन नहीं है जिससे कि उत्क्रमित किया जाए। ऐसे में केंद्रीय विद्यालय के लिए राज्य सरकार निःशुल्क जमीन देने की स्थिति में नहीं है।वहीं, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि ये मंत्री थे तब राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से पत्राचार किया था और कहा था कि हम तैयार भी होंगे तो उसी शर्त पर जब 75 प्रतिशत लोकल बच्चों का उसमें नामांकन हो लेकिन, इसको लेकर सहमति नहीं मिली।
यह भी पढ़ें :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *