Fri. Oct 30th, 2020

नए साल में पटना पुलिस पर भारी पड़े गुंडे, 2 सिपाही अस्‍पताल में भर्ती

नए साल में पटना पुलिस पर भारी पड़े गुंडे , 2 सिपाही अस्‍पताल में भर्ती
भारी पड़े गुंडे : नए साल में पटना पुलिस ने लोगों को सुरक्षा देने का दावा किया था, लेकिन वह खुद को असमाजिक तत्वों से नहीं बचा पा रही है। हालांकि एक समय था कि लोग खाकी का सम्मान ही नहीं करते बल्कि उससे खौफ खाते थे। शायद अब बिहार में पुलिसकर्मियों का एतबार खत्म हो गया है। यही वजह है कि नए साल के दूसरे ही दिन पटना पुलिस पर एक साथ दो अलग-अलग जगहों पर हमले हुए। इसमें तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए, जिनमें से दो की हालत गंभीर है और उन्‍हें इलाज के लिए पीएमसीएच में एडमिट कराया गया है। जबकि इस मामले में पटना के नए एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने सख्‍त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

पुलिसकर्मियों की लोहे की रॉड से पिटाई :

पीरबहोर में प्रशासन की मनाही करने के बावजूद गंगा में नाव चलाई जा रही थी। जबकि इस दौरान असमाजिक तत्व छेड़खानी करने लगे तो दो पुलिसकर्मियों ने उन्‍हें ऐसा करने से रोका। बस देखते ही देखते असमाजिक तत्व पुलिसकर्मियों पर टूट पड़े। घटना के बाद एसएसपी के निर्देश पर पुलिस सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की खोजबीन में लग गई और 6 आरोपी गिरफ्तार कर लिए हैं।आज ही पीरबहोर बाद कदमकुआं में भी पुलिस पर गुंड़े भारी पड़े। राजेंद्रनगर गोलम्बर के पास किसी बात को लेकर असमाजिक तत्व के दो गुट आपस में झगड़ रहे थे। इसी दौरान दो पुलिसकर्मी अरुण और विनय के साथ दरोगा मुकेश सिंह वहां पहुंच गए। लेकिन असमाजिक तत्‍वों ने आपसी मारपीट छोड़ पुलिसकर्मियों की लोहे की रॉड से पिटाई कर दी।

भारी पड़े गुंडे : पिस्टल ही गायब

तीसरी घटना भी पटना के शहरी थाना बुद्धा कॉलोनी से जुड़ी है। इस थाने में पदस्थापित दरोगा मरांडी सड़क दुर्घटना में बेहोश हो गये। असमाजिक तत्वों ने मौका देखते ही उनकी पिस्टल ही गायब कर दी। पटना के नए एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने आज ही पदभार ग्रहण किया है। जबकि एसएसपी ने अपने मातहत पुलिसकर्मियों को अपराधियों से निपटने का आदेश दिया था, लेकिन आज पुलिस पर असमाजिक तत्व ही भारी पड़ते दिख रहे हैं।
यह भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *