Tue. Jan 21st, 2020

डुमरांव महाराजा कमल सिंह का निधन, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

डुमरांव महाराजा कमल सिंह का निधन , राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार
महाराजा कमल सिंह : बिहार के डुमरांव राजघराने के अंतिम महाराजा और देश की पहली संसद के एकमात्र जीवित सांसद कमल बहादुर सिंह का निधन हो गया है। उनका निधन रविवार की सुबह भोजपुर-डुमरांव स्थित उनकी कोठी में हुआ। वो 93 साल के थे,कमल सिंह अपने पीछे दो पुत्र युवराज चंद्रविजय सिंह एवम छोटे युवराज मानविजय सिंह का भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। रविवार को कोठी पर उनका पार्थिव शरीर लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा जा रहा है जिसके बाद सोमवार की सुबह उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

खेती-किसानी में लगता था मन :

कमल सिंह देश की पहली लोकसभा में निर्वाचित होने वाले एकमात्र जीवित सदस्य थे। वो दो बार बक्सर से निर्दलीय चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे थे।उन्होंने आरा में महाराजा कॉलेज, राज हाई स्कूल, डुमरांव समेत कई शैक्षणिक, धार्मिक संस्थाएं स्थापित कीं और अस्पताल भी खुलवाए। जानकारी के मुताबिक भारत रत्न बिस्मिल्लाह खान भी आरंभिक दिनों में महाराजा के गढ़ स्थित बिहारी जी मंदिर में शहनाई बजाते थे। महाराजा ने बाद में बीजेपी की सदस्यता ले ली थी और बक्सर से चुनाव भी लड़े लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया। बड़े राजघराने से आने के बावजूद वे सरल, सहज और विनम्रता के प्रतीक बने रहे। खेती-किसानी में उनका मन बहुत रमता था।

महाराजा कमल सिंह : अटल बिहारी वाजपेयी से था घनिष्ठ संबंध

कमल सिंह का देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से भी काफी घनिष्ठ संबंध था। बिहार समेत देश के कई हिस्सों में स्वतंत्रता के बाद शिक्षा और सामाजिक विकास में उनका अहम योगदान रहा था। कमल सिंह के निधन पर सीएम नीतीश कुमार समेत सभी बड़े नेताओं ने गहरा शोक प्रकट किया है। नीतीश कुमार ने डुमरांव महाराज के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा। इस कार्यक्रम में बिहार सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर मंत्री जय कुमार सिंह मौजूद रहेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री सह बक्सर से भारतीय जनता पार्टी के सांसद अश्विनी कुमार चौबे ने शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि एक स्वर्णिम और गौरवशाली अतीत का अंत हो गया।
यह भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *