Thu. Jun 4th, 2020

एनएचआरसी का नोटिस आया बिहार सरकार को इस कारण से !

एनएचआरसी का नोटिस

एनएचआरसी का नोटिस : अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने सोमवार को बिहार सरकार और राज्य के पुलिस प्रमुख को एक नोटिस जारी किया जिसमें कहा गया कि एक महिला को एक आदमी ने आग लगा दी थी क्योंकि उसने उसके साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी।

आयोग ने कहा कि वह मामले में जांच की स्थिति और महिला को दिए गए उपचार के बारे में भी जानना चाहेगा, जो कथित तौर पर मुजफ्फरपुर के SKMCH अस्पताल में “कोमा की स्थिति” में है।

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कहा गया है कि महिला को “85 प्रतिशत जलने की चोट” लगी है और उसकी हालत “गंभीर” बताई गई है। आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में इस पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

कारगिल चौक पर नारेबाजी हुई 20 वर्षीय छात्रा के बलात्कार को लेकर

एनएचआरसी का नोटिस आया क्योंकि सरकार को बेटियों की चिंता नहीं है !

Image result for bihar rape

अब तो एनएचआरसी ने भी बिहार सरकार को नोटिस को भेज दिया और वहीँ कल पटना की सड़को पर छात्रों ने एक 20 साल की लड़की के साथ हुए रेप केस के मामले में विरोध प्रदर्शन किया जिस पर शासन द्वारा उसी पर वॉटर केनन से पानी छोड़ दिया गया हो जैसे सारी गलती उन लोगों से ही हो गई हो और बिहार में बेटियों की सुरक्षा करना सरकार का काम नहीं रह गया है।

लड़कियों का कब्रिस्तान क्यों बनता जा रहा है बिहार ?

बिहार सरकार के  लिए ब्राज़ील देश के साथ संबंध बनाना ज़्यादा ज़रूरी बन गया है। तभी तो सरकार ब्राज़ील के राजदूत की मेज़बानी में लगी रहती है जैसे वह बिहार को ढेर सारा फण्ड दिलवा देगा। अभी तो सिटीजनशिप एक्ट और एनआरसी मसले ने महिला सुरक्षा के सबसे मुद्दे को दबा दिया है और जिस तरह असंवेदनशील राजनीति का स्तर बढ़ गया उस हिसाब से हम यह निश्चित तौर से कह सकते है कि लोगों को सड़कों पर आना ही होगा ताकि वह खुद ही बेटियों की सुरक्षा और सम्मान के लिए सरकार को ठोस कदम उठाने के लिए मजबूर कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *