Mon. Dec 9th, 2019

न्यायमूर्ति संजय करोल बने पटना हाईकोर्ट के नए चीफ जस्टिस

न्यायमूर्ति संजय करोल

न्यायमूर्ति संजय करोल ने सोमवार को पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली। गवर्नर फागू चौहान ने पटना के राजभवन में न्यायमूर्ति करोल को शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राज्य के मंत्री, उच्च न्यायालय के न्यायाधीश और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। न्यायमूर्ति करोल ने न्यायमूर्ति अमरेश्वर प्रताप साही का स्थान लिया, जिन्हें मद्रास उच्च न्यायालय में स्थानांतरित किया गया है।

न्यायमूर्ति करोल पहले त्रिपुरा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश थे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना में राजभवन में पटना उच्च न्यायालय के नवनियुक्त मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति संजय करोल को शुभकामनाएं दीं।वह इलाहाबाद कृषि संस्थान और एमआरआई इंस्टीट्यूट ऑफ मेहता रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमैटिकल फिजिक्स सहित कई शैक्षणिक संस्थानों के लिए एक वकील के रूप कार्यत रह चुके है।

न्यायमूर्ति संजय करोल : संक्षिप्त जीवन परिचय

साही को 24 सितंबर, 2004 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के एक अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया, और 18 अगस्त, 2005 को उस अदालत के स्थायी न्यायाधीश बन गए। उन्होंने 17 नवंबर, 2018 को पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली और अब एक साल के बाद मद्रास उच्च न्यायालय में स्थानांतरित हो गए। मुख्य न्यायाधीश का मद्रास उच्च न्यायालय में एक वर्ष से थोड़ा अधिक कार्यकाल होगा क्योंकि वह 31 दिसंबर, 2020 को सेवा से सेवानिवृत्त होने वाले थे।

न्यायमूर्ति संजय करोल से उम्मीद हर चीफ जस्टिस से की जानी वाली उम्मीद की तरह ही है जिसमें उनसे संविधान की रक्षा, उसकी सही व्यायखा और कार्यपालिका-विधायिका के बीच उचित संतुलन बनाये रखते हुए किसी भी गलत कृत को संवैधानिक तरीके से सही करने की उम्मीद होगी। उम्मीद की जानी चाहिए कि आने वाले समय में पटना हाईकोर्ट को वह नई बुलंदियों तक ले जाने का काम अवश्य करके दिखाएंगे।

 

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें :-

महाराष्ट्र में शिवसेना-भाजपा गठबंधन पतन पर सीएम नीतीश कुमार ने रखी अपनी बात

अयोध्या फैसले पर भोजपुरी गाना बन के तैयार, यूट्यूब पर मचा शोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *