Wed. Jan 20th, 2021

शेरगढ़ का किला यानी गुफाओं की अनसुलझी दुनिया

शेरगढ़ का किला : इस दुनिया में कई ऐसे किले हैं, जो कई रहस्य रखते हैं। ऐसा ही एक किला बिहार के रोहतास जिले में भी है, जिसे ‘शेरगढ़ का किला’ कहा जाता है। अफ़गान शासक शेरशाह सूरी के इस किले में सैकड़ों सुरंगें और तहखाने हैं, जिनके बारे में कहा जाता है कि इसके बारे में आज तक किसी को पता नहीं चला। इस किले की कई रहस्यमयी कहानियां हैं, जिनके बारे में कोई नहीं जानता।

कैमूर की पहाड़ियों पर स्थित इस किले की संरचना अन्य किलों से बिल्कुल अलग है। इसे इस तरह से बनाया गया है कि कोई भी इस किले को बाहर से नहीं देख सकता है। किला तीन तरफ से जंगलों से घिरा हुआ है, जबकि दुर्गावती नदी इसके एक तरफ बहती है। किले में प्रवेश करने के लिए एक सुरंग से होकर गुजरना पड़ता है।

कहा जाता है कि अगर ये सुरंगें बंद हो जाती हैं, तो किला किसी को दिखाई नहीं देगा। यहां बने सेलरों के बारे में कहा जाता है जो इतने बड़े हैं कि इसमें 10,000 लोग एक साथ आ सकते हैं।

पति ने पत्नी का रेता गला, खुद की भी ले ली जान, जानिए पूरा मामला

शेरगढ़ का किला : शेरशाह सूरी ने इसलिए बनवाया था किला

Image result for shergarh ka kila

यह किला शेरशाह सूरी ने अपने दुश्मनों से बचने के लिए बनवाया था। वह अपने परिवार और सैनिकों के साथ यहां रहता था। यहां उनके लिए सुरक्षा से लेकर हर तरह की सुविधाएं उपलब्ध थीं।

इस किले को इस तरह से बनाया गया है कि अगर दुश्मन हर दिशा में 10 किलोमीटर दूर रहे, तो इसे स्पष्ट रूप से आते देखा जा सकता है। कहा जाता है कि इस किले में मुगलों ने शेरशाह सूरी, उनके परिवार और हजारों सैनिकों को मार डाला था।

पटना एयरपोर्ट पर IPS अमिताभ ठाकुर और एयरलाइन्स कर्मिंयों के बीच नोकझोंक

यह किला 1540 और 1545 के बीच बनाया गया था। यहां सैकड़ों सुरंगें बनाई गई थीं, ताकि मुसीबत के समय उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला जा सके। ऐसा कहा जाता है कि इन सुरंगों का रहस्य केवल शेरशाह सूरी और उनके विश्वस्त सैनिकों को पता था। इस किले से एक सुरंग रोहतास गढ़ किले तक जाती है, लेकिन किसी को नहीं पता कि दूसरी सुरंगें कहां जाती हैं।

शेरशाह का बेशकीमती खजाना भी इस किले में छिपा है, लेकिन उसे आज तक कोई नहीं मिला। सुरंगों और तहखानों का नेटवर्क किले में इस तरह से फैला है कि लोग अब भी अंदर जाने से डरते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें