Thu. Jul 9th, 2020

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : दिल्ली की साकेत कोर्ट में सुनवाई टली , 20 को फैसला

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : दिल्ली की साकेत कोर्ट में सुनवाई टली , 20 को फैसला
साकेत कोर्ट में सुनवाई : मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप मामले में दिल्ली (Bihar) के साकेत कोर्ट में सुनवाई टल गई है। अब इस मामले में अदालत सोमवार 20 जनवरी को दोपहर ढाई बजे के करीब अपना फैसला सुनाएगा। कोर्ट में सभी आरोपियों के जमानती न होने के कारण मामले की सुनवाई टली है। मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की तरफ से कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा गया है कि सीबीआई ने हलफनामे में कहा कि जिन लड़कियों ने यह बयान दिया कि 31 लड़कियों की हत्या की गई वो बात बाद में झूठी निकली। कोर्ट में ब्रजेश ठाकुर की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया कि पीड़ित लड़कियों द्वारा दर्ज किए गए बयान पर विश्वास ना किया जाए और उनके बयान को आधार ना माना जाए। साकेत कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर की अर्जी पर सीबीआई को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। सीबीआई को दो दिन में सीबीआई को जवाब दाखिल करना है।

साकेत कोर्ट में सुनवाई : क्या है पूरा मामला

ये मामला मुंबई की टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस की रिपोर्ट के बाद सामने आया था। इस मामले में साकेत कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर समेत 21 आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो, बलात्कार, आपराधिक साजिश और अन्य धाराओं में आरोप तय किया था। सीबीआई ने इस मामले में ब्रजेश ठाकुर को मुख्य आरोपी बनाया है।बता दें कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में 40 नाबालिग बच्चियों और लड़कियों से रेप और यौन शोषण होने की बात सामने आई थी। इस मामले में आरोप है कि जिस शेल्टर होम में बच्चियों के साथ रेप हुआ था, वो ब्रजेश ठाकुर का है। इस मामले में ब्रजेश ठाकुर के अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी और बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी आरोपी हैं।

ब्रजेश ठाकुर समेत 21 आरोपियों पे केस दर्ज :

मामला सुर्खियों में आने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इसे बिहार से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया था, जिसके बाद साकेत कोर्ट में इसकी सुनवाई चल रही है। कोर्ट ने 20 मार्च, 2018 को मामले में आरोप तय किए थे। आरोपियों में आठ महिलाएं और 12 पुरुष शामिल हैं। कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर समेत 21 आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो, रेप, आपराधिक साजिश और अन्य धाराओं के तहत आरोप तय किए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *