Wed. Nov 13th, 2019

मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस ने जीता दिल छठ पूजा के अवसर पर

मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस

मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस ने जीता दिल : छठ महापर्व की शुरुआत हो चुकी है. पुलिस विभाग का काम है कि वह इन 4 दिनों तक चलने वाले छठ पूजा के त्योहार में सुरक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करे. पुलिस का काम सिर्फ सुरक्षा नहीं अपितु सेवा भाव भी है. इसको सिद्ध किया है मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस ने. जानिये कैसे मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस ने छठ व्रतियों का दिल जीता.

मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस ने एक शानदार और अनोखी पहल का मुजायरा पेश किया है. पुलिस के अधिकारीयों और जवानो ने स्टेशन पर यात्रियों को पानी पिलाने का नेकदिल काम किया है. इससे उनकी नीस्वार्थ सेवाभाव का पता चलता है.

मुजफ्फरपुर रेलवे पुलिस के पहल की पृष्ठभूमि

कुछ रेलवे पुलिस जवान तो मिठाई खिलाते भी दिखे तो कुछ ने पानी का गिलास व्रतियों को दिया. स्टेशन पर मौजूद जनता भी यह देखने के लिए इखट्टी हो गई और खौफ वाली खाकी आज लोगों की सेवा करते दिखी. ऐसा शायद ही बिहार में कहीं और देखने को मिलेगा.

इस बारे में पूछे जाने पर गैरिसन रेलवे पुलिस (जीआरपी) के थाना इंचार्ज नंदकिशोर सिंह ने कहा कि छठ के मौके पर बाहर बड़ी तादाद में लोग अपने घर आते हैं. जबकि मुजफ्फरपुर आने वाले लोगों की संख्या काफी अधिक है.

छठ महापर्व 2019 : दूसरे दिन “खरना” की तैयारी शुरू

मुजफ्फरपुर जंक्शन पर छठ के दौरान भरी तादाद में यात्रियों का आना-जाना लगा हुआ है और जब वह जंक्शन पर आते हैं तो उनकी थकान मिटाने और उन्हें बेहतर महसूस करवाने के लिए रेलवे पुलिस ने यह पहल शुरू की है. इसके तहत थोक भाव में मुरब्बे भी मंगवाए गये है जिसे कि पानी के साथ दिया जा रहा है.

जब भी कोई ट्रेन स्टेशन प्लेटफॉर्म पर आती है तो जीआरपी जवान और अधिकारी ट्रे में मुराबा लेकर यात्रियों कोई खिलते हैं तो वहीँ कुछ जवान पानी के जार के पास खड़े रहते हैं और गिलास में पानी भरकर यात्रियों को थमते हैं.

दरअसल 1 दिन ट्रेन से उतरने के बाद एक यात्री जीआरपी के एक जवान के पास पहुंचा और पानी पीने की इच्छा जताई. उसके पास कई सारे बैग देखकर पूछने पर पता चला कि वह छठ में घर लौटा है. उसके बाद में प्रेरणा मिली कि अगर यात्रियों को पानी पिला दिया जाए तो वह काफी प्रसन्न हो जाएंगे. उसके बाद ही या मुहिम शुरू की गई है जो छठ पर्व तक जारी रहेगी.

वास्तव में पुलिस की यह पहल छठ पूजा त्योहार के प्रति उसकी सेवाभाव को दर्शाती है और इसकी पूर्ण सराहना की जानी चाहिए.

 

यह खबरें भी पढ़ें:-

बिहार एसटीइटी एग्जाम 2019 इस वजह से स्थगित हुआ

छठ पूजा 2019 : 3 नवंबर तक नहीं चलेंगी नावें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *