Mon. Dec 9th, 2019

दहेज़ के लिए पत्नी की हत्या करने वाले पति को मिली ये सजा…

दहेज़ के लिए पत्नी की हत्या

दहेज़ के लिए आज भी औरतों पर जुल्म किया जा रहा है। ऐसे ही दहेज़ के लिए पत्नी की हत्या करने वाले पति को उसकी सजा मिली है। पति ने दहेज़ के खातिर पत्नी बबली देवी को जलाकर मार डाला था। इसपर पति पंकज शाह को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। सिर्फ इतना ही नहीं इसके साथ ही अलग-अलग धाराओं में 22 हजार का अर्थदंड भी दिया है। अर्थदंड नहीं देने पर अतिरिक्त सजा भुगतनी पड़ेगी। इस दरिंदे पति ने दहेज़ न देने पर पत्नी को जला के खत्म कर दिया था।

पति ने की दहेज़ के लिए पत्नी की हत्या

आरोपित पंकज साहदुमका झारखंड जिले के डंगालपाड़ा का रहने वाला है। वह भागलपुर के जीरोमाइल में किराये के मकान में रहता था। उसकी शादी जमुई में रहने वाली बबली से हुई थी। शादी के बाद पति और सास दोनों ही बबली को दहेज़ के लिए प्रताड़ित किया करते थे। उसके बाद 02 मार्च 2015 को जीरोमाइल स्थित आवास में पति और सास ने मिलकर बबली को जलाकर मार डाला। मायागंज अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मरते समय उसने पति और सास के खिलाफ बयान दिया था।

 

Image result for दहेज़ के लिए पत्नी  को जलाया"

 

यह भी पढ़ें- बिहार की अनोखी शादी : काठ बनता है दूल्हा तो कुआं बनती है दुल्हन

अदालत का फैसला

मामले सामने आने पर पंचम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश दीपांकर पांडेय की अदालत ने यह फैसला सुनाया है। सरकार की ओर से बहस में हिस्सा लेने वाले अपर लोक अभियोजक विजय कुमार सिंह के अनुसार मामले में पंकज की मां सुमित्रा देवी को भी आरोपित बनाया गया है। पति की माँ यानि बबली की सासु भी उतनी ही अपराधी है जितना पंकज है। पंकज और सुमित्रा देवी दोनों को न्यायालय ने दोषी करार दिया था, लेकिन बीमार रहने के कारण सुमित्रा देवी को न्यायालय में पेश नहीं किया जा सका। उसका मायागंज अस्पताल में इलाज कराया जा रहा है। स्वस्थ्य होने के बाद सुमित्रा देवी को सजा सुनाई जाएगी। कोर्ट के फैसले के अनुसार ठीक हो जाने के बाद उन्हें भी सजा का भुगतान करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *