Tue. Dec 7th, 2021

अंधविश्वास ने ली जान:जानिए आखिर क्यों गई 14 वर्षीय बेटी की जान!

अंधविश्वास ने ली जान:जानिए आखिर क्यों गई 14 वर्षीय बेटी की जान!
अंधविश्वास ने ली जान:ये कहना बिल्कुल भी कहना गलत नही होगा की लोगो के अंदर आज भी अंधविश्वास नाम की चीज है।लोग आज भी इसको मानते है और इसके चक्कर मे अपनी जान तक गवा बैठते है।ऐसा ही कुछ सुन ने को मिल रहा है बिहार में।

हॉस्पिटल न जाकर पहुंच गए ओझा के यहाँ:-

 बिहार के मुंगेर जिले में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां अंधविश्वास के चलते एक बच्ची की मौत हो गई। इस घटना से पूरे जिले में सनसनी फैल गई। दरअसल, बच्ची को सांप ने डस लिया था। ऐसे में बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराने के बजाए घर वाले झार-फूंक कराने के लिए उसे ओझा के पास लेकर चले गए। ऐसे में समय पर ईलाज नहीं मिलने के चलते बच्ची की मौत हो गई।अब सवाल ये है की क्या फायदा ऐसे अंधविश्वास का जिसमे बच्ची ने अपनी जान गवा दी।

मिट्टी निकालते वक़्त जहरीले सांप ने काटा:-

बिहार एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, मामला मुंगेर जिला स्थित टेटियाबम्बर थाना क्षेत्र का है, जहां 14 वर्षीय बच्ची शबनम शुक्रवार को चूल्हे की पोताई करने के लिए बागान से मिट्टी लाने गई थी। इसी दौरान मिट्टी खोदने के क्रम में जहरीले सांप ने उसे डंस लिया। इसके बाद परिजन उसका इलाज करवाने की बजाए विषहरी स्थान लेकर लचे गए, जहां झाड़-फूंक किया गया।लेकिन बच्ची की हालत जब ज्यादा खराब हो गई तो परिजनों से उसे अस्पताल में भर्ती कराया।अब सवाल ये है कि क्या लड़की को पहले हॉस्पिटल नही ले जा सकते थे,कही ना कही बच्ची को बचाने में माता पिता से चूक हुई जिसका नतीजा आज उनके सामने है।

अंधविश्वास ने ली जान:डॉक्टरों ने किया मृत घोषित:-

साहिबगंज अस्पताल की डॉक्टर संगीता राय उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन मृत शबनम को लेकर  मुंगेर सदर अस्पताल चले गए। वहां भी डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यदि सही समय पर लड़की को अस्पताल लाया गया होता उसकी जान बच गई होती,क्योंकि जादा समय तो झाड़ फूक में चला गया जिसके वजह से बच्ची को अस्पताल ले जाने में देरी हुई और उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें