Fri. Aug 14th, 2020

दो नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म, पांच साल की बच्ची से छीना उसका बचपन

बिहार के दरभंगा और सुपौल जिले में दो नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म हुआ है। एक तरफ जहाँ हैदराबाद पुलिस ने दुष्कर्म और हत्या के आरोपियों को एनकाउंटर में मार दिया इधर, उसके बाद भी दरिंदों के अंदर कोई डर पैदा नहीं हुआ। बच्चियों की खेलने कूदने की उम्र को बिखेर के रख दिया है इन दरिंदों ने और कोई कुछ कर भी नहीं पा रहा है। ऐसी हैवानियत की खबर से आंख में आंसू तो आते ही और दिल चाहता है खुलेआम उन दरिंदों को भी मार दिया जाये जो लड़कियों का जीना आफत किये हैं। बिहार के दरभंगा जिले में एक ऑटोरिक्शा चालक ने पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म किया। वहीँ सुपौल में भी दरिंदे ने नाबालिग बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया है। मासूम बच्ची की इस हालत के बाद पुरे इलाके में आक्रोश का माहौल बन गया है।

दो नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म, हैवानियत की हद पार

एक ऑटोचालक पांच साल की मासूम बच्ची को अगवा करके बगीचे में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। इस दरिंदे ने हैवानियत की हद पार कर दी है। दुष्कर्म करने के बाद चालक खून से लथपथ पीड़ित बच्ची को वहीँ छोड़ कर फरार हो गया। इसके बाद सूचना मिलने पर नाजुक हालत में बच्ची को दरभंगा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। यहां बच्ची का ऑपरेशन किया गया है। मामला सामने आने के बाद देर रात आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

 

 

पीड़ित बच्ची के परिजनों ने बताया कि ऑटोचालक बच्ची को ऑटो में बैठाकर बगीचे में ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची को घर के पास न पाकर घरवाले उसे खोजने लगे तभी किसी ने बच्ची को ऑटो से बगीचे की तरफ जाने की खबर दी। जब घरवाले बगीचे के पास पहुंचे तो वहां बच्ची की हालत देखकर उनके होश उड़ गए। बच्ची खून से लथपथ वहां पड़ी हुई थी।

 

यह भी पढ़ें- पटना यूनिवर्सिटी : छात्र संघ चुनाव के लिए मतदान जारी ,देर रात तक परिणाम भी

सुपौल में भी इंसानियत की हद पार

बिहार के सुपौल में भी ऐस ही हुआ घर के पास अपने पापा के आने का इंतजार कर रही एक नाबालिग लड़की को दरिंदे ने किडनैप कर के रातभर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद घटना को लेकर पीड़ित बच्ची ने निर्मली थाना में 6 दिसंबर की रात में लिखित शिकायत की है। इसमें बताया गया है कि 5 दिसंबर की रात को बच्ची घर के पास अपने पापा का इंतज़ार कर रही थी कि इस दौरान एक बाइक पर सवार शिक्षक सहित दो युवक आये और बच्ची को जबरदस्ती उठा के ले गए। उसे पुरानी रजिस्ट्री ऑफिस के पास एक कमरे में ले गए, जहां उसके साथ उन्होंने रात भर दुष्कर्म किया। पुलिस जांच में जुट गयी है।

आज हमारे में देश में इंसानियत मर चुकी है।  न जाने ये सब कब रोकेगा और कब तक ऐसे ही बच्चियों को अपना बचपन खोना पड़ेगा। अब तो बस मन में सवाल उठता है क्या ये कभी रोकेगा?  माँ-बाप की भी हालत ख़राब होती है अपनी बच्ची को बाहर भेज के उनके मन में भी डर पैदा हो गया है।  क्या लगता है आपको ये घिनौना अपराध रुकेगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *