Sat. Jul 4th, 2020

चाइनीज ऐप्स पर भारी पड़ी बिहार के तीन युवाओं की कलाकारी, जानिए कैसे

बिहार के तीन युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए आत्मनिर्भर संदेश को दृंड संकल्प कर देश का पहला विज़ुअल डिक्शनरी, वेब ब्राउजर एवं डॉक्यूमेंट रीडर ‘मैगटैप’ ऐप बनाया है। यूसी ब्राउज़र और डब्ल्यूपीएस ऑफिस जैसे चाइनीज ऐप्स पर स्टार्टअप इंडिया से सर्टिफाइड भारत में निर्मित 32 एमबी का यह स्वदेशी एेप टक्कर देने काबिल है। अपको यह ऐप गूगल प्ले स्टोर पर मुफ़्त में मिल जाएगा।

इतने लाख लोगों की पसंद बन चुका यह बेहतरीन ऐप

अपको बता दें कि गूगल से प्रमाणित ‘मैगटैप’ के साथ 75 लोगों की टीम काम कर रही है। इस बनाने में बिहार के तीन युवाओं की मुख्य भूमिका बताई जा रही है। इनमें समस्तीपुर जिले के 20 वर्षीय रोहन पटना के आर्मी स्कूल से 12वीं पास और उनके छोटे भाई अभिषेक सिंह का नाम शामिल है। अब तक 29 विदेशी और 12 देसी भाषाओं में उपलब्ध ‘मैगटैप’ एेप को 10 लाख से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। वहीं, 19 हजार ने इसे 4.5 रेटिंग मिली है।

इसे बनाने का आइडिया कैसे आया

गया के रहन वाले 32 वर्षीय सत्यपाल चंद्रा का कहना है कि सोशल मीडिया पर रोहन से मुलाकात के बाद ऐसा एेप बनाने का प्लान किया। 2019 में ‘मैगटैप’ एेप को लॉन्च किया था। इसके बाद आज चाइनीज एेप की बढ़ती लोकप्रियता को देखकर एेप का दूसरा वर्जन ‘मैगटैप 2.0’ को लॉन्च किया गया।  अपको इस ऐप में वेब ब्राउजर, ट्रांसलेटर, डॉक्यूमेंट लिसनर एंड रीडर के साथ कम्पीटिशन से जुड़ी करीब 10 हजार किताबें, पढ़ाई से संबंधित करीब आठ हजार वीडियो मिलेंगी।

मैगटैप ऐप

इन 10 ऐप्स की ज़रूरत को पूरा करने काबिल है यह ऐप

इस ऐप में अपको फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, लिंकडिन और शेयरचैट के साथ ही इसपर इंटरटेनमेंट, करेंट अफेयर्स, फ्लाइट-ट्रेन टिकट और बैंकिंग जैसे कई सारे फीचर मिलेंगे।

रोहन सिंह द्वारा यह बताया गया है कि अंग्रेजी के महत्व को देखते हुए एेप का सबसे आकर्षक फीचर इसकी विजुअल डिक्शनरी है। इसके द्वारा ब्राउजर पर न्यूज पेपर या कोई भी अंग्रेजी डॉक्यूमेंट पढ़ने के दौरान किसी शब्द का मतलब न समझ आए तो एक सेकेंड तक उसपर प्रेस करने पर फोटो के साथ शब्द का मतलब सामने प्रकट हो जाता है।

एेप के एक फंक्शन को ऑन करने से वॉट्सएेप, फेसबुक, ट्विटर आदि पर आए अंग्रेजी संदेशों को आसानी से हिंदी में पढ़ा जा सकता है।

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *