Tue. Apr 7th, 2020

मांझी भी मार सकते है पलटी, देर रात मुख्यमंत्री नितीश कुमार से मिल कर 50 मिनट तक हुई बात

मांझी

साल के अंत में बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनितिक दलों में काफी खिंचतान मची हुई है और महागठबंधन के घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर भी काफी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। आये दिन कोई न कोई ऐसी खबर सुनने को आ रही जो बाकी दलों को सकते में डाल दे रही। ताजा जानकारी के अनुसार बताते चलें कि अभी हाल ही में जीतन राम मांझी के नेतृत्व वाली हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा और लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के बीच काफी तीखी बयानबाजी भी देखने को मिली थी।

देर रात सीएम से मिले जीतन राम मांझी

लालू यादव की पार्टी की तरफ से यह बोला गया था की किसी को भी सीट उसकी हैसियत के अनुसार ही मिलेगा मगर उनकी यह बात मांझी को खटक गयी। पिछले कुछ दिनों के लगातार सीट बंटवारे के मुद्दे पर नाराज चल रहे जीतन राम मांझी ने कल मंगलवार की रात दोस्त से दुश्मन बने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से मिलने पहुंच गए थे।

आपको यह जानकार काफी हैरानी होगी कि रात में सीएम से मिलने पहुंचे मांझी ने नितीश कुमार से करीब 50 मिनट तक बात की। जैसा की पहले से ही बताया जा रहा मांझी इन दिनों महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं बनने से नाराज चल रहे हैं। शायद मुख्यमंत्री से मुलाकात की यह भी एक वजह हो सकती है मगर अभी तक इसका पूरी तरह से खुलासा नही हो पाया है। हालाँकि जीतन राम मांझी ने भी अभी तक इस मुलाकात के बारे में कुछ भी नहीं बताया की उनके बिच किस मुद्दे पर और क्या क्या बातें हुई।

महागठबंधन में आ रही दरार, RLSP ने दिखाया सख्त तेवर, बोली- RJD त्यागे अहंकार

अटकलों के अनुसार मांझी ने सीटों के बंटवारे को लेकर लालू यादव की पार्टी आरजेडी पर हमला बोला है। मांझी ने यह भी कहा कि आरजेडी महागठबंधन में बड़े भाई की भूमिका में तो जरूर है मगर एक बड़े भाई की भूमिका को वह अच्छी तरह से निभा नहीं पा रही। उनके अनुसार यदि परिस्थितियां इस तरह रहीं तो महागठबंधन के घटक दल मार्च के बाद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *