Sat. Aug 8th, 2020

बिहार विधानसभा चुनाव : लोजपा ने प्रशांत किशोर के फार्मूले को नकारा

बिहार विधानसभा चुनाव : लोजपा ने प्रशांत किशोर के फार्मूले को नकारा
बिहार विधानसभा चुनाव : बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही अभी छह महीने से अधिक का वक्त बचा है लेकिन सीटों की दावेदारी का खेल शुरू हो चुका है। इस कड़ी में लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान के छोटे भाई और दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने अभी से ही 43 सीटों पर अपनी दावेदारी ठोक दी है। शुक्रवार को पारस ने ऐलान किया कि लोकसभा चुनाव में हमारी पार्टी का स्ट्राइक रेट 100 फ़ीसदी रहा है, ऐसे में जाहिर है उनकी दावेदारी पक्की है।

बिहार विधानसभा चुनाव :  लोजपा ने शुरुआत में दिखाया तेवर

बिहार में लोजपा एनडीए गठबंधन में भले ही सबसे छोटी पार्टी हो लेकिन शुरुआत में ही लोजपा ने अपने तेवर जाहिर कर दिए हैं। दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने बीजेपी-जेडीयू को दो टूक में कह दिया है कि वो गठबंधन की पुरानी सहयोगी पार्टी है और लोकसभा चुनाव में उनका स्ट्राइक रेट जेडीयू से भी अच्छा था तो जाहिर उनका दावा ज्यादा मजबूत है। इसलिए उन्हें विधानसभा चुनाव में कम से कम 43 सीटें जरूर मिलनी चाहिए क्योंकि पिछले चुनाव में भी लोजपा 43 सीटों पर चुनाव लड़ी थी। साथ ही पशुपति कुमार पारस ने लोकसभा चुनाव के उस फार्मूले को आधार बनाते हुए कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अमित शाह और नीतीश कुमार ने जो बराबरी के समझौते पर 17…17…06 के फार्मूले को लाया था 2020 में भी उसी फार्मूले को लागू करना चाहिए और उस फार्मूले के तहत लोजपा का 43 सीट पर किया गया दावा बिल्कुल सही है।

शाह और पासवान पे पूरा भरोसा :

पशुपति कुमार पारस ने अपने इस दावे के साथ जेडीयू और खासकर पीके को एक मैसेज भी दे दिया कि लोजपा प्रशांत किशोर के बयान और उनके किसी भी फार्मूले को नहीं मानती। पारस ने कहा कि कोई हमें ना अन्डरस्टीमेट कर सकता है और ना ही हम अपने कार्यकर्ताओं के साथ कोई हकमारी कर सकते हैं, ऐसे में जरूरी है कि गठबंधन हमारे वाजिब हक पर अमल करें फिर भी हमें नीतीश कुमार। अमित शाह और रामविलास पासवान पर पूरा भरोसा है कि ये बड़े नेता जब सीटों के तालमेल को लेकर एकसाथ बैठेंगे तो सबके साथ न्याय होगा वैसे एनडीए पूरी तरह इन्टैक्ट है।पशुपति कुमार पारस यही नहीं रुके 43 सीटों पर अपनी दावेदारी के साथ ही पारस ने 119 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की तैयारियों का भी एलान कर दिया।
कहा कि हमारे नेता रामविलास पासवान का बिहार में जो जनाधार है वो किसी से छिपा भी नहीं है। पशुपति कुमार पारस का यह बयान पार्टी की बैठक के दौरान आया है। इससे पहले शुक्रवार को पारस की अध्यक्षता में पार्टी के विधायकों, सांसदों, पूर्व प्रत्याशियों और जिलाध्यक्षों की बैठक हुई। वैसे तो यह बैठक 14 अप्रैल को गांधी मैदान में होने वाले उस रैली की तैयारियों को लेकर था लेकिन बैठक के बहाने लोजपा ने अपने तेवर भी जाहिर कर दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *