Sat. Oct 31st, 2020

लोजपा विधायक ने की देरी : जानिए क्यों लोगों ने उन्हें बंधक बनाया? बिहार एक्सप्रेस

लोजपा विधायक ने की देरी

लोजपा विधायक ने की देरी : नाराज़ गांव वालों ने बिहार के वैशाली में हरिवंशपुर गांव में लोजपा विधायक को बंधक बनाया। गांव में बीते 10 दिनों में चमकी बुखार से 7 बच्चों की मौत हो चुकी है। जिस कारण स्थानीय लोजपा विधायक राजकुमार शाह के देर से पहुंचने से नाराज़ लोगों ने उनके खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें बंधक बना लिया।

लोजपा विधायक ने की देरी : नाराज़ गांव वालों क्या कहते हैं?

स्थानीय गांव वालों का कहना है कि जहां गांव में चमकी बुखार से पीड़ित बच्चे रोज़ मर रहे हैं वहां के विधायक को इस बात की परवाह ही नहीं। विधायक को बंधक बनाने की सूचना मिलने पर पुलिस फोर्स गांव पहुंची और काफ़ी कोशिशों के बाद विधायक को छुड़ाकर रवाना किया। फिर रविवार को विधायक पीड़ित परिवार से मुलाकात करने के लिए पहुंचे।

एनआईए द्वारा छापेमारी : किस विधायक के भाइयों के घर हुई छापेमारी, जानिए पूरा मामला

लोजपा विधायक ने की देरी : सांसद को भी सुनाया गया खरी खोटी

विधायक के रवाना होने के थोड़ी देर बाद हरिवंशपुर में ही पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे राम विलास के भाई और सांसद पशुपति कुमार पारस को भी लोगों की खरी-खोटी सन्नी पड़ी।फिर सांसद ने नाराज लोगों को समझाया। पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि जितना हो सकेगा उतनी सरकार के तरफ से पीड़ित परिवारों को सहायता मिलेगी।

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-15-05-2019 भाग 2

सांसद ने यह भी कहा कि पीड़ित परिवारों को मुआवजा भी दिया जाएगा। वहीं पारस के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की तरफ से पूरा इंतजाम किया जा रहा है कि इस बीमारी पर जल्द रोक लगाया जा सके। इसके लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। उनका कहना है कि सरकार इस बीमारी को लेकर काफी चिंतित है और वे गरीब परिवारों का दर्द समझ सकते हैं।

विधायकों के लापता होने के पोस्टर्स चिपकाए गए थे

वैशाली में 7 बच्चों की मौत के बाद भी विधायक के नहीं पहुंचने पर गांव वालों ने नाराज़गी जताते हुए गांव में एक पोस्टर भी चिपकाया था। इसमें केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, सांसद पशुपति पारस और विधायक राजकुमार शाह के लापता होने की बात कही थी। लोगों ने तीनों नेताओं को ढूंढ कर लाने वाले को15 हजार रुपए इनाम की भी घोषणा की। पोस्टर चिपकाने की खबर सुनने के बाद विधायक और पशुपति पारस पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे।

हाजीपुर का सियासी हाजी कौन बनेगा ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *