Sat. Dec 7th, 2019

राजद अध्यक्ष बने लालू प्रसाद यादव अब सरकार के बाद जेल से चलाएंगे पार्टी

राजद अध्यक्ष बने लालू प्रसाद

राजद अध्यक्ष बने लालू प्रसाद : लालू प्रसाद यादव मंगलवार को 3 दिसंबर यानी आज 11 वीं बार राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख के रूप में निर्विरोध चुना गया। करोड़ों रुपये के चारा घोटाला मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद, राजद सुप्रीमो को 23 दिसंबर, 2017 को बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल भेज दिया गया था।

राजद नेता तेजस्वी यादव के मुताबिक पार्टी ने हालांकि लालू प्रसाद के नेतृत्व में बिहार विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है। पटना में पत्रकारों से बात करते हुए तेजस्वी ने कहा, “यह राजद और लालू प्रसाद जी का डर है कि एनडीए के लोग एक साथ हैं। नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद नतीजे निकलेंगे। इसमें कोई शक नहीं कि लालू प्रसाद जी पार्टी अध्यक्ष फिर से बन जाएंगे। हर कोई लालू जी को मानता है। हम लालू जी के नेतृत्व में 2020 का चुनाव जीतेंगे।”

बक्सर में हैदराबाद रेपकांड जैसी घटना से इंसानियत हुई शर्मसार

राजद अध्यक्ष बने लालू प्रसाद : क्या बिहार की जनता सत्ता सौंप देगी ?

विशेष रूप से, राजद प्रमुख का अगस्त 2018 से रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (RIMS) में इलाज चल रहा है। राजद सुप्रीमो को पिछले साल भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत सात साल की कैद और चारा घोटाला मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत सात साल की सजा सुनाई गई थी।

फिलहाल तो राजद फिर से लालू परिवार की बपौती बनकर रह गई है। लोगों को अच्छे से याद है कि किस तरह जेल से बीवी राबड़ी देवी के ज़रिये लालू प्रसाद यादव जेल से सरकार चलाते थे। अब वह जेल से सरकार चलाएंगे और उनका काम देखेंगे।

आज से शुरू हुआ सीएम नीतीश कुमार की क्लाइमेट चेंज पदयात्रा

ना परिवार संभालता है ना ही पार्टी और ना ही गठबंधन ,ऐसे में बिहार की जनता से वोट किस आधार पर मांगेगी लालू परिवार की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल। अब लोगों को तय करना है कि अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में उनको इस परिवारवादी पार्टी को चुनना है या फिर इनको विपक्ष के पद से भी हटाकर मिसाल कायम करनी ताकि लोकतंत्र बिहार में अडिग रहे, अमर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *