Sat. Sep 26th, 2020

जदयू ने अपनाया हमलावर रुख, चिराग पासवान को बताया कालिदास, कहा- जिस डाल पर बैठते हैं, उसी को काटते हैं

एक तो विधानसभा चुनाव की गर्मी ऊपर से लगातार बीते तीन-चार दिनों से कोरोना वायरस और बिहार में आई बाढ़ को लेकर टिप्पणी कर रहे लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व जमुई सांसद चिराग पासवान पर आखिरकार जदयू के नेता राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने तीखा रुख अपनाते हुए उनकी तुलना कालिदास से कर डाली। उन्होंने कहा कि चिराग पासवान ठीक कालिदास के समान है, जिस डाल पर बैठे थे हैं उसी को काटने लगते हैं। असल में चिराग पासवान विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं।

जदयू ने चिराग पासवान को लिया निशाने पर

बताते चलें कि मुंगेर से जदयू सांसद राजीव रंजन सिंह ने चिराग पासवान द्वारा लगातार कोरोना वायरस को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर कहा कि जहां तक कोरोना का प्रश्न है तो इस मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काफी ज्यादा संवेदनशील हैं। और आज की तारीख में प्रतिदिन 80 हजार से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं। जिसे अगले दो से तीन दिनों में बढ़ाकर में एक लाख प्रतिदिन तक करने का लक्ष्य रखा गया है।

सिर्फ इतना ही नहीं टेस्ट में जितने लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं उनकी दर 5% से भी कम है जबकि बिहार में कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालों कि दर भी 65% से करीब ज्यादा ही है। ललन सिंह यही नहीं रुकते हैं, उन्होंने यह भी कहा कि इस गंभीर मामले को देखते हुए प्रधानमंत्री महोदय ने भी 10 राज्यों के साथ बैठक में सामान्य तौर पर कहा कि कोरोना वायरस टेस्ट की संख्या बढ़ाने की जरूरत है। हालांकि यह अलग बात है कि लोजपा की निगाहें कहीं और है, मगर निशाना कहीं और।

चिराग पासवान ने लगाये आरोप

वहीं दूसरी तरफ लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार सरकार पर आरोप लगाया कि ना तो वह बाढ़ से निपट पा रही है और ना ही कोरोना वायरस से। ऐसे में हर बिहारवासी पूरी तरह बेहाल है, सिर्फ इतना ही नहीं हर साल बिहार में बाढ़ आती है और नागरिकों को काफी तकलीफ देती है। मगर 15 वर्षों से सत्ता में रहने के बाद भी नीतीश कुमार ने इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया जिससे बिहारवासियों का भला हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *