Thu. Apr 2nd, 2020

बेटी के साथ अन्याय : अभी भी जारी है यह भेद-भाव-बिहार एक्सप्रेस

बेटी के साथ अन्याय

बेटी के साथ अन्याय : शेखपुरा गांव के अस्पताल में भर्ती कंचन  नाम की लड़की की दोनों किडनियां फेल हो चुकी है, लेकिन पीड़िता के परिवार वालों ने उसे किडनी देने से मना कर दिया है। परिवार वालों का कहना है कि बेटा होता तो किडनी देने में कोई परेशानी नहीं थी पर यह बेटी है, इस कारण पीड़िता को मौत के घाट छोड़ दिया गया।

बेटी के साथ अन्याय : मजबूर कंचन अकेले पड़ गई

समाज में बेटी बचाओं के नारे महज नारों तक ही सीमित है। असल में बेटी आज भी समाज में उपेक्षित है। बेटी होने के कारण अस्पताल में तिल-तिल कर कंचन मर रही है। उसके मां-बाप सहित परिवार के सभी सदस्यों ने किडनी देने से इनकार कर दिया है। कंचन सदर प्रखंड के अवगिल गांव के रामाश्रय यादव की बेटी है। पीड़िता ने इस ही साल शेखपुरा के मुरलीधर मुरारका गर्ल्स हाई स्कूल से प्रथम श्रेणी से मैट्रिक की परीक्षा पास किया है।

बेटी के साथ अन्याय : बीमार बेटी का कोई नहीं

बता दें कि मैट्रिक की परीक्षा तक कंचन पूरी तरह से स्वस्थ थी।  लेकिन आज से दो महीने पहले उस की तबीयत अचानक खराब हो गई। परिवार वाले ने कंचन को शेखपुरा से लेकर पटना के आईजीएमएस तक दिखाया। बाद में डॉक्टरों ने बताया कि उनकी बेटी की दोनों किडनी फेल हो गई है। जिसे सुन उसके परिवार वाले उसे घर वापस ले आए।

पिता की मौत बेटा घायल , पढ़िए पूरी खबर – बिहार एक्सप्रेस

देह व्यापार और दुष्कर्म में आया विधायक का नाम , जानिए कैसे होगा पर्दाफाश

पीड़िता के परिवार वाले अपनी बेटी की जान बचाने से कतरा रहे हैं। हालाकि उनका परिवार भरा-पूरा है। शेखपुरा के सदर अस्पताल में खड़े हो कर पीड़िता के पिता ने कहा कि, ‘ये बेटी है, कौन देगा अपना किडनी।’ वहीं कंचन को जन्म देने वाली उसकी मां भी बेटी को किडनी देने से कतरा गईं।

होनहार कंचन के सपने हुए अधूरे

इस संबंध में सदर अस्पताल के चिकित्सक तथा कर्मियों का कहना है कि कंचन के पिता रामाश्रय यादव को आयुष्मान भारत योजना के गोल्डन कार्ड भी उपलब्ध है। डॉक्टर के अनुसार परिवार का कोई भी व्यक्ति अपना किडनी दान देकर कंचन की जान को बचा सकता है। लेकिन किडनी दान देने के मसले पर परिवार के अन्य लोग तो दूर खुद कंचन के मां-बाप भी इनकार कर रहे हैं।

रिश्ते हुए तार-तार, 8 साल की बेटी के साथ पिता ने किया मुंह काला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *