Fri. Apr 23rd, 2021

हरियाणा से यूपी के रास्ते बिहार में ला रहे थे 888 बोतल शराब , 4 गिरफ्तार

हरियाणा से यूपी के रास्ते बिहार में ला रहे थे 888 बोतल शराब , 4 गिरफ्तार
हरियाणा से यूपी के रास्ते : बिहार में शराबबंदी कानून की वजह से पड़ोसी राज्यों से चोरी-छिपे आने वाली शराब पर अब तक रोक नहीं लग सकी है। गुरुवार को गोपालगंज उत्पाद विभाग ने यूपी से बिहार में आ रही दो कारों का पीछा कर उसमें से भारी मात्रा विदेशी शराब जब्त की। विभाग की टीम ने दोनों गाड़ियों से 4 शराब तस्करों को भी गिरफ्तार किया है।गिरफ्तार तस्करों से विभाग के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। यह कार्रवाई उत्पाद विभाग की टीम ने कुचायकोट के पहाड़पुर गांव में की। विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यूपी से लाई जा रही शराब को मुजफ्फरपुर पहुंचाया जाना था। तस्कर इतने शातिर थे कि इन लोगों ने शराब लाने के लिए लग्जरी गाड़ी का इस्तेमाल किया, ताकि पुलिस या उत्पाद विभाग को शक न हो।

तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया :

उत्पाद निरीक्षक रंजन प्रसाद ने बताया कि बलथारी चेकपोस्ट और उसके सटे पहाड़पुर गांव से दो गाड़ियों का विभाग की टीम ने पीछा किया। दोनों कारों को रोकने के बाद जब टीम ने तलाशी ली, तो गाड़ियों में बड़ी मात्रा में विदेशी शराब की बोतलें मिलीं।दोनों गाड़ियों में शराब की 888 बोतलें यानी 666 लीटर शराब बरामद की गई। इसके बाद टीम ने दोनों कारों से आ रहे 4 तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। रंजन प्रसाद ने बताया कि तस्करों से पूछताछ में पता चला कि यह शराब की खेप हरियाणा से बिहार लाई जा रही थी। इस खेप को मुजफ्फरपुर पहुंचाया जाना था।

हरियाणा से यूपी के रास्ते : प्रशासन बेबस :

आपको बता दें कि यूपी की सीमा से सटा होने के कारण गोपालगंज शराब तस्करों के लिए सेफ जोन से कम नहीं है। इसी कारण यहां लगभग हर दिन शराब तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं। पुलिस और उत्पाद विभाग की सक्रियता के बावजूद शराब तस्करी की हरकतों पर लगाम नहीं लग पा रही है। पुलिस और विभाग शराब तस्करों पर कड़ी निगरानी का दावा तो करते हैं, लेकिन तस्करों की नई-नई तरकीबों के आगे प्रशासन बेबस नजर आता है।

 

लोगों को मिली पीपा पुल की सुविधा , अब आसान हुआ उत्तर बिहार का रास्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें