Wed. Aug 12th, 2020

सीएम नीतीश का तोहफा, बिहार में 3.75 लाख नियोजित शिक्षकों का प्रमोशन

नियोजित शिक्षकों का प्रमोशन

नियोजित शिक्षकों का प्रमोशन: बिहार में नितीश सरकार की तरफ से बिहार के 3.75 लाख नियोजित शिक्षकों के लिए एक बहुत ही ख़ास तोहफा है। पौने लाख नियोजित शिक्षक जो लम्बे समय से सेवा शर्त नियामवली लागु करने का इंतज़ार कर रहे थे उनके लिए बहुत ही अच्छी खबर है। बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार नए साल में बिहार विधानसभा चुनाव से पहले नियोजित शिक्षकों को सेवा शर्त की सुविधा देने जा रही है। बिहार सरकार ने हमेशा ही अपनी शर्तें पूरी की है और एक बार फिर करने जा रही है।

3.75 लाख नियोजित शिक्षकों का प्रमोशन

जिसका लम्बे समय से नियोजित शिक्षक इंतज़ार कर रहे थे अब उसे सरकार पूरा करेगी। नियामवली में जो प्रावधान किए जा रहे हैं, उसके मुताबिक हर नियोजित शिक्षक को पुरे सेवा काल में तीन प्रमोशन का लाभ मिलेगा। इनमे से जो भी महिला शिक्षक हैं उन्हें 180 दिन का मातृत्व अवकाश की सुविधा दी जाएगी। अभी तक के नियम के अनुसार उन्हें 135 दिनों का अवकाश की व्यवस्था है। नियमावली ड्राफ्ट को अंतिम रूप देने के लिए वित्त विभाग, शिक्षा विभाग एवं सामान्य प्रशासन विभाग के आला अफसरों की टीम एक्शन में है। इनके फैसले के बाद काम आगे बढ़ाया जायेगा।

 

Image result for बिहार में नियोजित शिक्षा

 

यह भी पढ़ें- हैदराबाद एनकाउंटर का इफ़ेक्ट : खुश होकर बिहार पुलिस के सिपाही ने इसलिए मुंडवा ली अपनी मूंछे

इस संबंध में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले पुरे प्रदेश में नियोजित शिक्षकों के हित में सेवा शर्त नियामवली को लागू करने का सरकार पूरा प्रयास कर रही है। नितीश सरकार ने इसे पूरा करने का निर्देश दिया है। उनके निर्देश के आलोक में गठित तीन सदस्यीय कमेटी के स्तर से नियोजित शिक्षक सेवा शर्त नियमावली का ड्राफ्ट को तैयार किया जा रहा है। जब नियमावली का ड्राफ्ट तैयार हो जाएगा तब उस पर विधि विभाग से परामर्श लिया जाएगा। उसके बाद नियमावली को सरकार लागू करेगी। सरकार प्रयास कर रही है कि ये काम जल्द से जल्द निपटा लिया जाये। इसका लाभ प्रारंभिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों के नियोजित शिक्षकों को मिलेगा।

 

Image result for बिहार में नियोजित शिक्षा

राज्य के 3.75 लाख शिक्षकों को मिलेगा लाभ

सरकार इस नियामवली में नियोजित शिक्षकों की सेवा निरंतरता का लाभ देने का प्रावधान कर रही है। इससे हर नियोजित शिक्षकों को इसका लाभ मिल सकेगा। जैसे की, अगर कोई प्रारंभिक विद्यालय से हाईस्कूल में कोई शिक्षक शिक्षण काम में आया है तो आगे भविष्य में दोनों सेवा अवधि को जोड़ कर प्रिफरेंस व प्रमोशन का लाभ मिलेगा। इसी तरह का प्रावधान हाईस्कूल से उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिक्षण कार्य करने के लिए आए शिक्षक के लिए लागू होगा। इसके अलावा दस साल सेवा पूरी करने पर प्रमोशन का लाभ सुनिश्चित होगा। नियोजित शिक्षकों की योग्यता व वरीयता से प्रधानाध्यापक के पद भरे जाएंगे। वरीय शिक्षकों को प्राचार्य में प्रमोशन का लाभ दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *