Tue. Nov 12th, 2019

आरके सिन्हा ने पूर्व सीएम मांझी को बीजेपी के साथ आने का दिया न्यौता

आरके सिन्हा ने पूर्व सीएम मांझी को बीजेपी के साथ आने का दिया न्यौता
पूर्व सीएम मांझी : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने महागठबंधन से अलग होने का फैसला कर लिया है। इस बीच, बापू के रामराज्य और मोदी के सुराज रथ को लेकर गया पहुंचे बीजेपी सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि पूर्व सीएम जीतनराम मांझी अच्छे व्यक्तित्व और धरती से जुड़े नेता हैं। उनका महागठबंधन से मोहभंग हुआ है और हृदय परिवर्तन करके देश की सेवा के लिए अगर वे फिर से बीजेपी के साथ आना चाहें तो वे लोग उनका स्वागत करेंगे।

महाराष्ट्र पे भी बोलते दिखे :

दरअसल, मांझी ने महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं होने और सर्वसम्मति से निर्णय नहीं होने का आरोप लगाते हुए ऐलान कर दिया है कि वो बिहार और झारखंड में अकेले दम पर चुनाव लड़ेंगे। सिन्हा ने महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट पर बोलते हुए कहा कि गठबंधन के तहत लड़ने वाली शिवसेना को वहां के राज्य की जनता की भावना का ख्याल रखना चाहिए। वहां की जनता ने बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटों दी है इसलिए वह बड़े भाई की भूमिका में ही रहेगी। अगर शिवसेना वहां बड़ा पार्टी बनती तो बीजेपी बिना समय गमवाए वहां सरकार बनाने में मदद करती। 9 नवंबर तक का समय बचा हुआ है। वहां के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी सुलझे हुए व्यक्ति हैं और सांवैधानिक प्रावधानों के तहत महाराष्ट्र की जनता के हित मे निर्णय लेंगे।

पूर्व सीएम मांझी : रथ यात्रा पे सिन्हा :

बता दें कि आरके सिन्हा 2 अक्टूबर से बापू के रामराज्य और मोदी के सुराज नारा के साथ एक रथ लेकर देश भर के दौरे पर निकले हुए हैं। गया में उन्होंने शहर के चौक और बोधगया में गांधी चौक पर सभा की। इस दौरान लोगों के बीच खादी से बने झोला को लोगों के बीच वितरित किया गया। इस झोले पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के साथ ही पीएम मोदी समेत कई अन्य नेताओं की तस्वीर बनाई गई है। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में बीजेपी के कार्यकर्ता भी शामिल हो रहे हैं।
यह भी पढ़ें :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *