Sat. Dec 7th, 2019

इन दो विद्यालयों के खिलाड़ी बने कबड्डी प्रतियोगिता के विजेता

खेल प्रतियोगिता

बिहार में लोक शिक्षा समिति द्वारा 32वां प्रांतीय समूह खेल प्रतियोगिता आयोजित की गयी थी। जिसका समापन सोमवार को हुआ है। इस समापन समारोह में नकुल कुमार शर्मा, मा. प्रदेश सचिव लोक शिक्षा समिति, बिहार ने महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर, बरहन गोपाल के भैया-बहनों को राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल हासिल करने पर विद्यालय के आचार्य रवि श्रीवास्तव को बेस्ट कोच के रूप में सम्मानित किया। प्रांत के कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता में विजेता, उप विजेता टीम के भैया-बहनों को संस्थागत ट्रॉफी एवं प्रमाण-पत्र देकर पुरस्कृत किया गया। समारोह में बहुत ही ख़ास लोग उपस्थित रहे और सभी ने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया है।

बिहार में हुई  प्रतियोगिता, खिलाड़ियों ने किया खुद को साबित

आयोजित की गयी खेल प्रतियोगिता में भैया कबड्डी प्रतियोगिता में सरस्वती शिशु मंदिर, बलहा नारायणपुर की टीम विजेता एवं खाकी मठिया उप-विजेता रही और यहीं बहनों के कबड्डी टीम में सरस्वती शिशु मंदिर खाकी मठिया विजेता एवं फॉरबिसगंज उप-विजेता रही। इस दौरान हुए भैया खो-खो टीम में किशनगंज विद्या मंदिर विजेता एवं पूर्णिया उपविजेता रही और वहीँ बहनों की खो-खो टीम में विद्या मंदिर, दर्शन नगर छपरा विजेता एवं शिशु मंदिर बढ़डिया उप-विजेता रही। इस बीच खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाने के लिए कई लोग वहां मौजूद रहें। समारोह में आये अतिथियों का परिचय महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर, बरहन गोपाल के प्रधानाचार्य आशुतोष कुमार मिश्र ने किया।

 

Image result for खो-खो"

यह भी पढ़ें- धोखेबाज़ दूल्हा, बीच शादी में आकर प्रेमिका ने फोड़ा उसका भांडा

खिलाड़ियों का बढ़ाया उत्साह

इस पूरी प्रतियोगिता का समापन बड़े ही बेहतरीन ढंग से हुआ। पुरस्कार वितरण विभाग निरीक्षक ललित कुमार राय के द्वारा संपन्न हुआ। इस बीच खेलकूद ध्वजावतरण कुमार विजय रंजन, प्रांतीय खेलकुद प्रमुख ने किया। इस पुरे कार्यक्रम समापन की घोषणा विद्यालय कोषाध्यक्ष राहुल तिवारी जी ने किया, उन्होंने बताया कि वह भी शिशु मंदिर के पुरातन छात्र रहे हैं। समापन समारोह को संबोधित कर रहें महावीर सरस्वती विद्या मंदिर बरहन गोपाल के कोषाध्यक्ष राहुल तिवारी ने कहा कि खेल कूद से हमारे शारीरिक संतुलन के साथ ही साथ मानसिक संतुलन का भी विकास होता है। उन्होंने दूर-दूर से आये छात्रों को खेल की विशेषता बताई और कहा कि असफलता ही सफलता की जननी है इसलिए असफलता से हतोत्साहित होने की आवश्यकता नहीं है।

खिलाड़ियों के साथ-साथ वहां मौजूद हर किसी ने इनकी बातें सुनी और समझी है। आशीर्वचन विद्यालय के सह सचिव सूर्यज्योति वर्मा ने किया। कार्यक्रम का मंच संचालन विभाग निरीक्षक फणीन्द्र नाथ झा ने किया और अंत में धन्यवाद ज्ञापन प्रदेश सचिव, लोक शिक्षा समिति, बिहार,श्री नकुल कुमार शर्मा जी ने किया। यह पूरा दिवस एक त्यौहार के रूप में बीता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *