Mon. Dec 9th, 2019

कम उम्र के बच्चों को नशीले इंजेक्शन देता था डॉक्टर, जानिए पूरा मामला

बच्चों को नशीले इंजेक्शन देता डॉक्टर

बिहार में कम उम्र के बच्चों को नशीले इंजेक्शन देता डॉक्टर पकड़ा गया है। यह डॉक्टर कम उम्र के बच्चों व यवाओं को नशे की लत लगा रहा था। डॉक्टर पहले खुद उन्हें नशे का इंजेक्शन लगता था और फिर जब बच्चे व युवा इसकी लत लगा लेते तो इस तरह वह इंजेक्शन बेचता और आराम से पैसे कमाता था। उसके बाद ब्रांड प्रोटेक्शन सर्विसेज के द्वारा जब ये सूचना दी गई कि पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र में कुछ युवा पैंटोसिड नामक इंजेक्शन के जरिए नशे के शिकार हो रहे हैं, तो इसकी सूचना मिलते ही पुलिस अलर्ट हो गई और तुरंत जांच पड़ताल में जुट गयी कि कहाँ से ये नशीले इंजेक्शंस आ रहे हैं और कौन है जो इसे बच्चों को दे रहा है ?

युवाओं और बच्चों को नशीले इंजेक्शन देता डॉक्टर

जांच पड़ताल करते हुए पुलिस नशे का इंजेक्शन लेने वाले युवक तक पहुंच गई और उसकी निशानदेही पर इंजेक्शन बेचने वाले क्लीनिक का ठिकाना भी पता कर लिया। पुलिस ने पता लगाया कि इंदिरा नगर स्थित अशोक सिंह के मकान में चल रहे शैलेंद्र कुमार के क्लीनिक में यह गलत काम किया जा रहा है। क्लीनिक में विभिन्न प्रकार की दवाएं पाई गईं। यह सभी नशीले पदार्थ की थी।

 

यह भी पढ़ें- सोनपुर मेला 2019 की हुई शुरुआत, डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने किया उद्घाटन

आरोपित डॉक्टर गिरफ्तार

पुलिस ने शैलेन्द्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित डॉक्टर आयुर्वेदिक डॉक्टर बताकर क्लिनिक खोला था और युवाओं को नशे का इंजेक्शन देता था। साथ ही पुलिस से वहां से दर्जन भर नशीले इंजेक्शन और कई नकली दवाएं भी जब्त की है। देर शाम तक शैलेंद्र पुलिस या ड्रग विभाग के समक्ष कोई डिग्री या कागजात प्रस्तुत नहीं कर सका। दरअसल, दो दिन पहले एक युवक खुद से हाथ में नशे का इंजेक्शन ले रहा था। इसका वीडियो वायरल हो गया और वीडियो पुलिस तक पहुंच गया, जिसके बाद थानेदार केपी सिंह मामले की जांच में जुट गए।

बिहार की राजनीति, मनोरंजन, जीवनशैली, खेल इत्यादि से जुड़ी ख़बरें अब सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *