Wed. Sep 30th, 2020

जदयू के बूथ स्तरीय पदाधिकारियों ने भी अपनाया “डिजिटल संवाद तंत्र”

देशभर में फैली महामारी को देखते हुए बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारी को पूरी तरीके से डिजिटल मोड दे दिया गया है। इसके लिए सभी राजनितिक दलों द्वारा “डिजिटल संवाद तंत्र” को अपनाने की मुहिम जारी है। बिहार के सीएम और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार पिछले चार दिनों से बूथ स्तरीय पदाधिकारियों से संवाद कर रहे हैं। बुधवार को भी उन्होंने कई जिलों के नेताओं से बातचीत की।

डिजिटल संवाद तंत्र

खास बात यह है कि जदयू द्वारा इस “डिजिटल संवाद तंत्र” को बूथ स्तरीय पदाधिकारियों के लिए ऐसे तैयार किया जा रहा है कि वे स्थानीय स्तर पर सक्रिय लोगों से नियमित रूप से वार्तालाप कर सकें।

अपको बता दें कि सीएम के वर्चुअल संवाद में बूथ स्तरीय पदाधिकारियों के लिए यह संदेश दिया गया है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अब पार्टी को डिजिटल मोड द्वारा ही अपनी सक्रियता बढ़ानी होगी। जिसके लिए उन्हें प्रशिक्षण देने की भी कोशिश की जाएगी।

जानिए जदयू की डिजिटल प्रोमोशन की खासियत

यह भी तय किया गया है कि अब बूथ स्तर के पदाधिकारियों को अपने इलाके के कार्यकर्ताओं से संवाद करने के लिए ज़ूम ऐप का इस्तेमाल करना होगा। इसी तरह पार्टी से जुड़े संवाद के लिए अलग अलग वॉट्सएप ग्रुप भी बनाए जाएंगे। जिस पर पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ताओं और उनसे जुड़े लोगों को कनेक्ट करने की कवायद है।

प्रचार को प्रभावी बनाने की ये शानदार तकनीक

प्रचार अभियान में डिजिटल प्लैटफॉर्म्स के माध्यम से जिला और विधानसभावार विकास से जुड़ी जिन योजनाओं पर काम हुआ है उन्हें डिजिटल क्लिप्स के रूप में लोगों तक पहुंचाया जाएगा। जिससे कि पोस्टर और पर्चे बांटने से बचा जा सकेगा। साथ ही इन क्लिप्स पर आने वाले कॉमेंट्स पर भी नज़र रखने का आदेश है और सभी पदाधिकारी फेसबुक पेज भी बनाएंगे। इससे पार्टी प्रचार और भी प्रभावी बन सकेगा।

 

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *