Wed. Sep 23rd, 2020

तनावग्रस्त आदमी बना हत्यारा, अपने ही परिवार को उतारा मौत के घाट

तनावग्रस्त आदमी बना हत्यारा

तनावग्रस्त आदमी बना हत्यारा : बिहार के मुंगेर जिले में एक व्यक्ति ने अपनी ही मां, पत्नी और तीन नाबालिग बेटियों की हत्या कर दी है क्योंकि वह अपनी दुकान के कुछ दस्तावेजों के खो जाने के बाद मानसिक अवसाद से पीड़ित था, जिसके वह मालिक थे। पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि पांच लोगों की हत्या करने के बाद छत से कूदकर आत्महत्या का प्रयास किया।

पुलिस के अनुसार, घटना मुंगेर जिले के हवेली खड़गपुर थाना क्षेत्र में हुई। पुलिस ने हालांकि मामूली रूप से घायल हुए आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने कहा, “हवेली खड़गपुर के कन्हैया टोला मोहल्ला के निवासी भरत कुमार केसरी ने अपने ही घर में पांच लोगों की गला घोंटकर हत्या कर दी और छत से नीचे कूदकर आत्महत्या करने की भी कोशिश की।”

आरोपी एक दुकान का मालिक था और उसके कुछ कागजात गायब हो गए थे, जिसके चलते वह मानसिक तनाव की स्थिति में था। शुक्रवार को केसरी ने सो रही मां सावित्री देवी, 90 वर्षीय , पत्नी आशा देवी, 40 और बेटियों शिवानी केसरी, 16, सिमरन केसरी, 14, और सोनम केसरी, 11 वर्षीय, का गला घोंट दिया।

राजद की एनपीआर विरोधी मांग जो है राज्य के खिलाफ

तनावग्रस्त आदमी बना हत्यारा : बिन दुकान सबको पालता कैसे ?

इसके बाद, आरोपी ने घर की छत से कूदकर खुद को मारने की कोशिश की। हालांकि, उसे मामूली चोटें आईं और उनका इलाज खड़गपुर अस्पताल में किया जा रहा है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सनकी पुलिस कांस्टेबल ने कर डाली अपनी बीवी की निर्मम हत्या

आखिर तनाव का स्तर इतना कैसे हो सकता है कि आदमी उसे संभाल ही न पाए और अपने ही परिवार को ही मार डाले। यह आदमी भी हत्यारा इसलिए बन गया और जब उसकी दुकान न रहती जिससे इसका परिवार चलता तो तो वह सब रहकर क्या करते और वह उन्हें कैसे पालता ? इसी से उसे तनाव ने घेर और उसने सबकी हत्या कर खुद को भी मार डालने की सोची।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *