Sat. Sep 26th, 2020

बिहार में कोरोना के कहर से पीएम हुए चिंतित, सीएम नीतीश से कही ये बात

बिहार में

देश में बिहार सहित अन्य राज्यों में कोरोना का कहर प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। राज्य में तो कोरोना संक्रमण का आंकड़ा आसमान छूता नज़र आ रहा है। बिहार में स्थिति इतनी गंभीर हो गई है कि पीएम की भी चिंता बढ़ गई है। जिसे लेकर पीएम ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कोरोना जांच को बड़े स्तर पर बढ़ाने के लिए कहा।

बता दें मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार सहित आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा जुड़ कर उक्त सभी राज्यों की समीक्षा की। इस दौरान पीएम ने बिहार सहित अधिक संक्रमित राज्यों में कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया।

कोरोना की जंग में डटे इन दस राज्यों की चिंता बढ़ी

प्रधानमंत्री के अनुसार कोरोना के कुछ छह लाख एक्टिव मामलों के 80 फीसद इन्‍हीं 10 राज्यों में हैं। ऐसे में इन राज्यों को कोरोना की जंग में और भी सतर्क रहने की जरूरत है। पीएम का कहना है कि, “जिन राज्यों में जांच दर कम है और जहां पॉजिटिविटी रेट अधिक है, वहां कोरोना जांच बढ़ाने की जरूरत है। खासतौर पर बिहार, गुजरात, उत्‍तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में जांच बढ़ानी होगी।”

संक्रमण के रोकथाम में मिल रही मदद, जानिए कैसे

प्रधानमंत्री का कहना है कि आज जांच की संख्या सात लाख तक पहुंच चुकी है। इसमें लगातार वृद्धि नज़र आ रही है जिससे कि संक्रमण को पहचानने व रोकने में मदद मिल रही है। पीएम के अनुसार देश में औसत मृत्यु दर पहले भी अन्य देशों से कम थी और अच्छी बात यह है कि यह लगातार और कम होती नज़र आ रही है।

कोरोना के खिलाफ पीएम ने इन हथियारों की मुख्य भूमिका बताई

पीएम का मानना है कि कोरोना के खिलाफ कंटेनमेंट, कांटेक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस सबसे प्रभावी हथियार हैं। अब देश की जनता भी इसे समझ रही है। इसमें लोगों का भी सहयोग प्राप्त हो रहा है।

 

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *