Wed. Nov 13th, 2019

गठबंधन कर हारी कांग्रेस:महागठबंधन से कांग्रेस हारी बिहार, आरोप- सहयोगी दलों पे

गठबंधन कर हारी कांग्रेस
गठबंधन कर हारी कांग्रेस:बिहार में कांग्रेस की हार के लिए महागठबंधन को जिम्मेदार बताया जा रहा है। पार्टी ने हार पर मंथन के लिए प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा की अध्यक्षता में पटना में बैठक बुलाई थी। हालांकि, बैठक में कई जिलाध्याक्ष नहीं पहुंचे और कुछ ने बहिष्कार भी किया। बैठक में आए ज्यादातर जिलाध्यक्षों ने माना कि गठबंधन के कारण कांग्रेस को नुकसान पहुंचा।

गठबंधन कर हारी कांग्रेस:उम्मीदवारों के चयन पे सवाल:-

जिलाध्यक्षों ने हार के लिए उम्मीदवारों के चयन को लेकर सवाल उठाया और कहा कि पहले तो राष्ट्रीय पार्टी होने के नाते महज 9 सीट मिला जो किसी तरह से सम्मानजनक नही हैं। वहीं, दूसरी तरफ सीटों के बंटवारे में भी खेल किया गया, जहां कांग्रेस की स्थिति अच्छी थी और वहां जीत सकते थे, तो उसे महागठबंध में शामिल छोटे दलों को दे दिया गया।मतलब हार का ठीकरा सीधे तौर पे महागठबंधन पे फोड़ा गया।

स्वर्ण आरक्षण पड़ा भारी:-

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि हमें मिथिलांचल में सीट मिलनी चाहिए थी। दरभंगा का सीट हमारा जीता हुआ था।अगर कीर्ति आजाद को दरभंगा सीट से लड़ाया जाता तो निश्चित रूप से हमारी जीत होती। बैठक में आरजेडी के साथ गठबंधन को लेकर भी सवाल उठाए गए और कहा गया कि आरजेडी के अंदर की उठापटक और सवर्ण आरक्षण का विरोध उन्हें भारी पड़ा, जिसकी वजह से उनकी हार हुई।कांग्रेस के कई नेताओं ने आरोप लगाया कि सहयोगी दलों ने चुनाव में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पूछा तक नहीं था।

40 में से शिर्फ़ एक सीट पे कब्जा:-

बिहार में कांग्रेस आरजेडी और अन्य छोटे दलों के साथ महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ी थी। कुल 40 सीटों में से 39 सीटें एनडीए को मिलीं, जबकि एक किशनगंज की सीट कांग्रेस ने जीता। महागठबंधन के अन्य दलों को एक भी सीट नहीं मिली। किशनगंज से भी कांग्रेस की जीत काफी कम मार्जिन से हुई, जैसे-तैसे जीत हुई।
कांग्रेस के उन तमाम जिलाध्यक्षों ने बैठक का बहिष्कार किया जहां कांग्रेस की दावेदारी के बावजूद महागठबंध के उम्मीदवार को सीट दी गई, जिसमें पूर्वी चंपारण भी शामिल है। जहां से आरएलसीपी के उम्मीदवार व प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह के बेटे थे।मतलब ये साफ है की हार का ठीकरा खुद न लेके कांग्रेस ने दूसरे के माथे पे डाल दिया और खुद बचे रहे।

8 thoughts on “गठबंधन कर हारी कांग्रेस:महागठबंधन से कांग्रेस हारी बिहार, आरोप- सहयोगी दलों पे

  1. Good day! biharexpress.org

    We put up of the sale

    Sending your commercial offer through the Contact us form which can be found on the sites in the contact partition. Feedback forms are filled in by our software and the captcha is solved. The advantage of this method is that messages sent through feedback forms are whitelisted. This method increases the probability that your message will be read.

    Our database contains more than 25 million sites around the world to which we can send your message.

    The cost of one million messages 49 USD

    FREE TEST mailing of 50,000 messages to any country of your choice.

    This message is automatically generated to use our contacts for communication.

    Contact us.
    Telegram – @FeedbackFormEU
    Skype FeedbackForm2019
    Email – FeedbackForm@make-success.com
    WhatsApp – +44 7598 509161

  2. We’re a global community in which we promote our users by paying for each 30 likes they receive for their publishing like : pictures, Video, music and other content
    Each time a user publish a content and people like it the user get paid for that content
    We pay $1 USD for each 30 likes he / she have and more we are like YouTube payments system but only by likes
    https://m-Shalt.com/register

  3. Hi. My name is Adam from “Inovit” animation studio.
    Our studio creates professional 2D animation explainer videos about services/products that help to answer questions that your prospects or clients might have, such as How it works? What for? What are the main benefits etc.

    Some examples of our work (portfolio) – https://www.youtube.com/inovit ?

    Please, let me know if you are interested in our services and I will send you more information. Or we can simply set up a short phone call.

    Contact us.
    website – https://inovitvideo.com/
    phone – (888) 274 8845
    e-mail – am@inovitvideo.com

  4. Ciao! biharexpress.org

    We suggesting

    Sending your commercial proposal through the Contact us form which can be found on the sites in the contact partition. Contact form are filled in by our application and the captcha is solved. The profit of this method is that messages sent through feedback forms are whitelisted. This method increases the probability that your message will be read.

    Our database contains more than 25 million sites around the world to which we can send your message.

    The cost of one million messages 49 USD

    FREE TEST mailing of 50,000 messages to any country of your choice.

    This message is automatically generated to use our contacts for communication.

    Contact us.
    Telegram – @FeedbackFormEU
    Skype FeedbackForm2019
    Email – FeedbackForm@make-success.com
    WhatsApp – +44 7598 509161

  5. Great ¡V I should certainly pronounce, impressed with your website. I had no trouble navigating through all tabs as well as related info ended up being truly easy to do to access. I recently found what I hoped for before you know it in the least. Quite unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or something, website theme . a tones way for your client to communicate. Nice task..

  6. Thanks fordesigned forin favor ofin support of sharing such a nicepleasantgoodfastidious thoughtideaopinionthinking, articlepostpiece of writingparagraph is nicepleasantgoodfastidious, thats why i have read it fullycompletelyentirely

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *