Tue. Nov 12th, 2019

बिहार में मिला कोयले का भंडार, जगी बिजली के सस्ते होने की उम्मीद

बिहार में मिला कोयले का भंडार

बिहार के लिए ये खुशखबरी है। बिहार में पहली बार मिला कोयले का भंडार। आज तक यहाँ कोयला नहीं मिला था, कोशिशों के बाद भी। कोयला का यह भंडार यानी की 230 मिलियन टन, भागलपुर के पीरपैंती के पास मंदार गांव में मिला है। इन कोयले के खुदाई का काम साल 2016 से शुरू कर दिया जायेगा। ऐसा बताया गया है की 60 मिलियन टन कोयले की खुदाई हो सकती है।

 

पहली बार बिहार में मिला कोयले का भंडार

 

कोयला मिलने के बाद, खुदाई से लेके आगे तक की पूरी जिम्मेदारी भारत कोल लिमिटेड को सौंपी गयी है। कोयले के उत्पादन के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार करवा लिया गया है। मदार गांव से 230 मिलियन टन कोयला मिलने के बाद अब पास के ही गांव मिर्जापुर में भी खुदाई की जा रही है। खुदाई के बाद वहां से भी करीब तीन-चार सौ मिलियन टन कोयला मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है। पहली बार इतना कोयला मिलने के बाद इसका उपयोग बिजलीघरों में किये जाने की योजना है। इसके बाद बिजली के उत्‍पादन लागत में कमी आएगी, जिसका लाभ उपभोक्‍ताओं को भी मिलगा। ऐसा होने जाने से आपको ही फायदा है।

 

इस बात पर खान एवं भूतत्व मंत्री ब्रजकिशोर बिंद एवं निदेशक अरुण प्रकाश ने बताया कि झारखंड के साहेबगंज जिले से सटे बिहार के मंदार गांव के आसपास मौजूद कोयले का ग्रेड जी-12 उपलब्‍ध है। उन्होंने कहा की इसे अच्छी क्वालिटी का कोयला माना जाता है। बिजलीघरों में इसका इस्तमाल हो सकता है। इसके इस्तेमाल के लिए बिहार में बिजली उत्पादन का प्रोजेक्ट लगाने का सुझाव भी आया है। अगर ऐसा हुआ तो बिजली घरों को सस्ता कोयला मिलेगा। बिजली भी सस्ती मिलेगी।

गिरिराज सिंह की नाराजगी : पटना में रामलीला के आयोजन को नही मिली अनुमति

 

इतना कोयला हाथ लगने के बाद मंत्री ने बताया की, यह बिहार की पहली कोयला खदान होगी। खदान के ऊपर 90 मीटर मिट्टी की मोटी परत है और इसके खनन के लिए 340 मीट्रिक टन मिट्टी साथ ही 105 मीट्रिक टन कमजोर बालू की परत को हटाना होगा। मिटटी और बालू की जांच भी करवाई जा रही है। यह भी तय किया जा रहा है की काम कैसे किया जाये।

 

 

आगे की खबरें भी जरूर पढ़ें….

मुंबई-बरौनी स्पेशल हुई शुरू ट्रेन – यात्रियों की बढ़ती परेशानी होगी कम

गैस सिलिंडर फटने से लगी आग, दुर्घटना में एक परिवार की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *