Fri. Aug 14th, 2020

COVID-19 मीटिंग के दौरान मंत्री ने की अफसर की शिकायत, तो सीएम नितीश कुमार ने लगाईं क्लास

कोरोना वायरस महामारी ने बिहार की स्थिति काफी ज्यादा खराब कर रखी है और राज्य में इसकी वजह से दिन प्रतिदिन स्थिति काफी गंभीर भी होते जा रही है। बताते चलें कि अब तक राज्य में कुल 36 हजार से भी ज्यादा कोरोना वायरस केस दर्ज किए जा चुके हैं। जिनमें 200 से भी अधिक लोगों की जान जा चुकी है। फिलहाल बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कि सरकार को कोरोना वायरस संक्रमण मामले पर विपक्ष लगातार घेर रहा है। इसी बीच सीएम ने तमाम आलोचनाओं के बीच कोरोना संक्रमण से निपटने में लगे अफसरों पर नाराजगी जताई है, इसी दौरान सीएम ने अफसर की शिकायत पर क्लास भी लगा दी।

अफसर की शिकायत पर भड़के सीएम

बीते शनिवार को कैबिनेट मीटिंग में राज्य के प्रमुख सचिव उदय सिंह कुमावत को नीतीश कुमार ने फटकार लगा दी। असल में बताया जा रहा है कि मीटिंग में जब सीएम नीतीश ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से टेस्टिंग की कम दरों के बारे में सवाल पूछा तो पांडे ने शिकायत में कहा कि उन्हें हेल्थ कमिश्नर से कोई सहयोग नहीं मिलता। जिसके बाद सीएम गुस्से में आ गए और कमिश्नर को धमकी तक दे डाली कि या तो परफॉर्मेंस करके दिखाना होगा या फिर कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

कोरोना की वजह से ना सिर्फ बिहार में नीतीश की सरकार को काफी तीखे हमले झेलने पड़ रहे हैं बल्कि राज्य के नागरिकों की चिंता भी सताये जा रही है। कुछ ही महीनों में बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इसे देखते हुए नीतीश कुमार और उनकी पार्टी नहीं चाहते कि उनकी छवि किसी भी वजह से खराब हो। हालांकि इन सब के दौरान विपक्ष पार्टी के तेजस्वी यादव ने यह आरोप लगाया कि राज्य में कोरोना वायरस की टेस्टिंग और ट्रेसिंग काफी कम कर दी गई है। इसी का नतीजा है कि राज्य में लगातार नए संक्रमितओं की संख्या बढ़ते जा रही हैं और मौतें भी हो रही हैं।

बता दें कि शुक्रवार को ही पटना हाईकोर्ट ने बिहार सरकार से कोरोना वायरस रोकने के लिए उठाए गए तमाम कदमों पर भी जवाब मांगा था। सिर्फ इतना ही नहीं कोर्ट ने सरकार से आइसोलेशन सेंटर, मरीजों के लिए कोरोना वायरस हॉस्पिटल में पैरामेडिकल स्टाफ और डॉक्टरों की संख्या तथा वेंटिलेशन और ऑक्सीजन सिलेंडर का भी ब्योरा मांगा है। जिसके बाद सरकार ने तुरंत कैबिनेट मीटिंग रख सारी जानकारी जुटानी शुरू कर दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *